हाटे बजारे ट्रेन से दो करोड़ के सोना लूट मामले में 'जिला पार्षद' ने की बदमाशों की मदद, पुलिस ने 6 को किया गिरफ्तार

हाटे बजारे ट्रेन से दो करोड़ के सोना लूट मामले में 'जिला पार्षद' ने की बदमाशों की मदद, पुलिस ने 6 को किया गिरफ्तार

KATIHAR : कटिहार में हाटे-बजारे एक्सप्रेस ट्रेन से 25 जून को हुई स्वर्ण व्यवसाई से लूट कांड का खुलासा हुआ है। लगभग दो करोड़ के इस लूट कांड में कई चौंकाने वाला जानकारी सामने आया है। लूट कांड के मास्टरमाइंड पीड़ित व्यवसाई पारस सोनी का भाई संतोष सोनी ने ही  स्थानीय एक जिला परिषद के गुर्गों के द्वारा घटना को अंजाम दिया था। फिलहाल रेल पुलिस ने इस मामले में छह लोगों को गिरफ्तार किया है। जबकि और 7 से 8 लोगों के गिरफ्तारी के बात कही जा रही है। लगभग ढाई किलो सोना लूट की इस घटना में लूटे गए सोना में से एक बड़ा हिस्सा और नकद भी पुलिस ने गिरफ्तार अपराधियों के पास से बरामद किया है। 


बताते चलें की 25 जून को कटिहार जिला के काढ़ागोला और बखरी रेल स्टेशन के बीच हाटे-बजारे एक्सप्रेस ट्रेन से कोलकाता से सहरसा के लिए मधेपुरा के स्वर्ण व्यवसाई पारस सोनी सोना खरीद कर लौट रहे थे। उनके पास लगभग दो किलो का सोने का जेवरात मौजूद था। इस बीच ट्रेन का चेन पुलिंग कर हथियार से लैस अपराधी  AC-1 में सफर कर रहे पारस से सोने से भरा हुआ बैग लेकर काढ़ागोला और बखरी रेलवे स्टेशन के बीच उतर कर फरार हो गए। हालाँकि यह इलाका रेल थाना के तहत नवगछिया इलाके में आता है। इसलिए इसे लेकर नवगछिया रेल थाना में मामला दर्ज किया गया था। अब रेल पुलिस ने इस मामले का खुलासा करते हुए लूटे गए सोना में से लगभग आधा किलो (456.920) सोना और नगद 20 लाख 57 हजार रुपया बरामद कर लिया है। इसके अलावा 45 हजार नगद नेपाली नोट के साथ 5 मोबाइल भी पुलिस ने जप्त किया है। लूट के घटना का जिक्र करते हुए 25 जून को ही पारस सोनी ने पुलिस से गुहार लगाते हुए जल्द अपराधियों के गिरफ्तारी का मांग किया था। इस मामले पर चौंकाने वाला खुलासा करते हुए रेल एसपी ने कहा कि लूट की पूरी साजिश व्यवसाई पारस सोनी के भाई संतोष सोनी नहीं रचा था। संतोष ने ही पूरी कहानी के साजिश रचते हुए कुर्सेला में एक सफेदपोश माननीय के सहयोग से इस लूट कांड को व्यवसायिक प्रतिद्वंदिता के कारण अंजाम दिलवाया था। पुलिस ने कई तरह के वैज्ञानिक अनुसंधान के आधार पर इस कांड के मास्टरमाइंड संतोष सोनी के अलावे घटना को सपोर्ट में अंजाम देने वाले और घटना के बाद मोटरसाइकिल से अपराधियों के भागने वाले इस पूरे रैकेट के लगभग पंद्रह लोगों में से छह लोगों को गिरफ्तार कर लिया है। आगे पुलिस पकड़े गए  गुर्गों के बयान के आधार पर और कई आरोपियों के गिरफ्तारी के साथ-साथ लूट ले गए सोना के बरामदगी के उम्मीद जता रहे हैं। पकड़े गए छह आरोपियों में से एक आरोपी ने इस लूट कांड के अंजाम देने की पूरे तरीके को बयां करते हुए कहा कि कटिहार जिला कुर्सेला के एक स्थानीय जिला परिषद ने उन लोगों को कटिहार से काढ़ागोला के रेल टिकट दिया था और उन्होंने यह भी कहा था ट्रेन के चेन पुलिंग के बाद उनके आदमी द्वारा दिए गए निशानदेही वाले बैग को ही लूटना है। लूट के घटना को अंजाम देने के बाद भागने के दौरान भी उसने ही मोटरसाइकिल उपलब्ध करवाया था। इस लूट के घटना को अंजाम देने के बाद उन लोगों को कितना रुपया मिलना तय हुआ था। इस पर गिरफ्तार अपराधी ने कहा कि उन लोगों को तथाकथित सफेदपोश भैया ही लूट का हिस्सा देने वाले थे,जो उन लोगो को नही मिला है। 

वहीँ कटिहार रेल एसपी ने घटना का उद्भेदन के बाद कहा की यह कटिहार रेल पुलिस और जिला पुलिस के सहयोग से एक बड़ा उपलब्धि हासिल किया गया है। क्योंकि इस घटना के कई एंगेल था। एक तरफ जहां पीड़ित व्यवसाई पारस सोनी के भाई संतोष सोनी राजस्थान में रहने वाले एक अन्य रिश्तेदार मनोज सोनी के साथ मिलकर पूरा साजिश रचा था। वही इस घटना को अंजाम देने वाले अपराधी जोगबनी से हैं। इसलिए नेपाल बॉर्डर से सटा हुआ इलाका होने का उनके गिरफ्तारी भी बहुत बड़ा चुनौती था। दूसरी तरफ अब एक इस मामले में स्थानीय स्तर पर एक प्रतिनिधि द्वारा घटना को अंजाम देने में पूरी भूमिका निभाने के बाद सामने आना पुलिस के लिए कई पहली बना हुआ था। लेकिन कटिहार रेल पुलिस टीम ने जिला पुलिस के साथ मिलकर इस मामले का उद्भेदन कर दिया है। जल्द अन्य फरार आरोपियों को भी गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

कटिहार से श्याम की रिपोर्ट 

Find Us on Facebook

Trending News