राजद के 25वें स्थापना दिवस पर उत्साह, पार्टी नेताओं ने कहा - यह जश्न नहीं, नए भविष्य का शंखनाद है

राजद के 25वें स्थापना दिवस पर उत्साह, पार्टी नेताओं ने कहा - यह जश्न नहीं, नए भविष्य का शंखनाद है

PATNA : राजद के स्थापना दिवस के  25 साल पूरे होने पर पार्टी कार्यकर्ताओं में खुशी का माहौल  है। जिसमें लालू प्रसाद भी वर्चुअली जुड़ने से यह उत्साह दोगुना हो गया है। पार्टी के उत्सा ह  यह जश्न नहीं, बल्कि भविष्य की योजनाओं को लेकर शंखनाद है। आज लोकतंत्र की जो हालत है, उससे सभी वाकिफ है। अधिनायक वाद देश की जनता हम पर थोपा जा रहा है। हमारा सिद्धांत रहा है समाज के सभी वर्ग के लोगों के विकास को आगे बढ़ाना। जिस पर यह पार्टी आज तक टिकी है।

इस दौरान उन्होंने एनडीए में मचे घमासान को लेकर साफ कहा कि आज विपक्ष की बिहार में जरुरत नहीं रह गई है। क्योंकि विपक्ष का सारा काम खुद सरकार के मंत्री और विधायक उनने काम की पोल खोल रहे हैं। आज उनके ही विधायक और मंत्री यह कहते हैं कि बिहार के 80 फीसदी मंत्री ट्रांसफर पोस्टिंग में पैसे ले रहे हैं। यहां खुद आरोप लगा रहे हैं कि सीएम के इर्द गिर्द रहनेवाले ब्यूरोक्रेट अकूत संपत्ति अर्जित किए हैं, राजद पूछता है कि क्या इसके छिंटे नीतीश कुमार पर नहीं पड़ा होगा। 

शक्ति यादव ने कहा हम लोहिया जी के सिद्धांतों पर चलनेवाले लोग हैं। वर्ना कुछ लोग ऐसे भी हैं जो सिर्फ लोहियावादी होने का दिखावा करते हैं। उनके लिए सिर्फ सत्ता ही महत्वपूर्ण है, जिसके लिए वह सभी सिद्धांतों को भूलाने से नहीं चूक रहे हैं। आज जो स्थिति है वह साफ इशारा कर रहा है कि बिहार में बदलाव कितना जरुरी हो गया है।

Find Us on Facebook

Trending News