गया के फल्गू नदी में अब सालोभर रहेगा 3 मीटर पानी, 277 करोड़ की लागत से बन रहा रबर डैम

गया के फल्गू नदी में अब सालोभर रहेगा 3 मीटर पानी, 277 करोड़ की लागत से बन रहा रबर डैम

GAYA : बिहार के गया जिले के फल्गु नदी पर बिहार का पहला रबर डैम बनने जा रहा है. देवघाट के समीप बनने वाले इस रबर डैम का निर्माण कार्य शुरू भी किया जा चुका है. मालूम हो कि मुख्यमंत्री नीतिश कुमार ने पिछले 23 सितम्बर, 2020 को इसका ऑनलाइन शिलान्यास किया था. इसके बाद कुछ दिनों पहले से रबर डैम बनाने का कार्य शुरू हो चुका है. रबर डैम के बन जाने से सालों भर फल्गु नदी में तीन मीटर पानी रहेगा. जिससे विष्णुपद मंदिर और पिंडदान करने आये श्रद्धालुओं को सालों भर पिंडदान, तर्पण और श्राद्धकर्म के लिए पानी मिलेगा. दरअसल पितृपक्ष मेला अवधि के दौरान लाखों की संख्या में पिंडदानी गया आते हैं. वहीं, सालों भर देश-विदेश से पिंडदानियों के गया आने का सिलसिला लगा रहता है. ऐसे में उनकी सुविधा के लिए डैम का निर्माण कराया जा रहा है. बता दें कि 277 करोड़ रुपये की लागत से बनने वाला यह रबर डैम राज्य का पहला रबर डैम होगा, जो आकर्षण का केंद्र होगा. हैदराबाद की एनसीसी कम्पनी द्वारा डैम निर्माण का कार्य शुरू किया गया है. रबर डैम के निर्माण होने से जहां फल्गु नदी में सालों भर पानी का स्टोरेज होगा. वहीं, गर्मी के दिनों में गया शहर के जलस्तर में भी काफी सुधार होने की संभावना है. 

इस संबंध में गया डीएम अभिषेक सिंह ने बताया कि गया जिले में रबर डैम की बहुप्रतीक्षित योजना थी. जिससे यहां आने वाले श्रद्धालुओं को सालों भर फल्गु नदी के जल का लाभ मिलेगा. वे अपना धार्मिक कर्मकांड, पिंडदान और तर्पण का कार्य कर सकेंगे.

उन्होंने बताया कि रबर डैम का निर्माण कार्य 2 वर्षो में पूरा किया जाना है. सम्भवतः दिसम्बर 2022 तक रबर डैम का निर्माण पूरा हो जाएगा. वहीं, देवघाट से सीताकुंड जाने के लिए स्टील ब्रिज का भी निर्माण कराया जाएगा. इसी परियोजना में स्टील ब्रिज भी शामिल है, ताकि श्रद्धालु आसानी से सीताकुंड जा सके. उन्होंने कहा कि इसके निर्माण हो जाने से गया रमणीय स्थल के रूप में विकसित होगा, जो काफी आकर्षण का केंद्र रहेगा. 

गया से मनोज कुमार की रिपोर्ट 


Find Us on Facebook

Trending News