CM नीतीश पर बंट गये बाप-बेटे! पूर्व सीएम मांझी ने कहा- हां बिहार में अफसरशाही है, मंत्री संतोष सुमन बोले-ऐसी कोई बात नहीं

CM नीतीश पर बंट गये बाप-बेटे! पूर्व सीएम मांझी ने कहा- हां बिहार में अफसरशाही है, मंत्री संतोष सुमन बोले-ऐसी कोई बात नहीं

PATNA: बिहार में अफसरशाही से परेशान नीतीश कैबिनेट के मंत्री मदन सहनी ने इस्तीफा कर दिया। सरकार के मंत्री के द्वारा ही सुशासन की पोल खोलने के बाद सीएम नीतीश कटघरे में खड़े हैं। सरकार के सहयोगी हम के मुखिया जीतनराम मांझी ने भी मंत्री मदन सहनी के आरोपों की पुष्टि कर दी। पूर्व सीएम ने कहा कि हां अफसरशाही है। मंत्रियों की बात को अफसर तरजीह नहीं देते हैं। अंदर ही अंदर कैबिनेट के कई मंत्री अफसरशाही से त्रस्त हैं लेकिन मुंह खोलना नहीं चाह रहे। इधर बिहार में व्याप्त अफसरशाही पर पूर्व सीएम मांझी और उनके मंत्री बेटे संतोष मांझी बंट गये हैं। नीतीश कैबिनेट में मंत्री संतोष मांझी अपने पिता जीतनराम मांझी की बातों से सहमत नहीं हैं।यूं कहें कि अफसरशाही पर बाप-बेटे के सुर अलग-अलग हैं. 

बाप-बेटे के सुर अलग-अलग

समाज कल्याण मंत्री मदन सहनी के इस्तीफे के बाद पूर्व सीएम जीतनराम मांझी ने गुरूवार शाम कहा था कि हां यह सही है कि मंत्री की बात को अफसर तरजीह नहीं देते. हमने तो एनडीए की बैठक में भी सीएम नीतीश से कहा था कि मंत्रियों- विधायकों की इज्जत तब बढ़ेगी जब अफसर इनकी बात सुनेगा। उन्होंने कहा कि हां यह बात सही है कि बिहार में अफसरशाही है। 20-30 परसेंट अफसर तो ऐसे हैं कि वो किसी की बात नहीं सुनते।

जूनियर मांझी ने सुशासन का राग अलापा

इधर, जूनियर मांझी यानी जीतनराम मांझी के बेटे और नीतीश कैबिनेट के मंत्री संतोष मांझी ने अलग सुर अलापा है। उन्होंने कहा कि कहीं कोई अफसरशाही नहीं है। हमारे विभाग में तो सारा काम हो रहा है। कहीं कोई परेशानी नहीं है। दिल्ली में न्यूज4नेशन से बातचीत करते हुए संतोष मांझी ने कहा कि अगर मदन सहनी को किसी तरह की परेशानी थी उसका समाधान करवाना चाहिए था,बात करनी चाहिए थी।उन्होंने कहा कि मुझे नहीं लगता है कि ऐसी कोई बात है। नीतीश कुमार के नेतृत्व में सुशासन की सरकार चल रही है। मदन सहनी का क्या इश्यू है वे अपनी बात मुख्यमंत्री के सामने रखेंगे। 



Find Us on Facebook

Trending News