पांचवीं वंदे भारत पटरियों पर दौड़ने के लिए तैयार, इस रूट पर 11 को पीएम करेंगे रवाना, जानें कब तक बिहार के लोगों को करना होगा इंतजार

पांचवीं वंदे भारत पटरियों पर दौड़ने के लिए तैयार, इस रूट पर 11 को पीएम करेंगे रवाना, जानें कब तक बिहार के लोगों को करना होगा इंतजार

DESK : देश में वंदे भारत ट्रेनों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है। जहां अभी अलग अलग रूटों पर चार वंदे भारत का परिचालन हो रहा है। वहीं अब जल्द ही पांचवीं वंदे भारत के परिचालन शुरू हो जा रहा है। पांचवीं वंदे भारत एक्सप्रेस चेन्नई और मैसूर के बीच चलेगी। जिसके लिए ट्रेन का ट्रायल शुरू हो गया है। आगामी 11 नवंबर को पीएम मोदी इस ट्रेन को हरी झंडी दिखाएंगे। हालांकि बिहार में वंदे भारत के लिए अगले साल तक इंतजार करना होगा।

चेन्नई से शुरू हुआ ट्रायल

चेन्नई-मैसूर वंदे भारत का ट्रायल रन चेन्नई के एमजी रामचंद्रन सेंट्रल रेलवे स्टेशन से शुरू हुआ। दक्षिण भारत की ये पहली वंदे भारत ट्रेन होगी। ट्रेन की रेक चेन्नई पहुंचने पर इस देखने के लिए लोगों की भीड़ उमड़ पड़ी।

बता दें कि वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण (Finance Minister Nirmala Sitharaman) ने 2022 के बजट में घोषणा की थी कि अगले तीन साल में देश में नई पीढ़ी के400वंदे भारत ट्रेनें चलाई जाएंगी। जिनमें अब तक रेलवे द्वारा चार वंदे भारत एक्सप्रेस चलाई जा चुकी हैं। अब पांचवीं वंदे भारत एक्सप्रेस भी जल्द पटरियों पर दौड़ेगी।

बता दें कि पहली वंदे भारत ट्रेन को 15 फरवरी, 2019 को हरी झंडी दिखाई गई थी। पहली वंदे भारत एक्सप्रेस नई दिल्ली-कानपुर-प्रयागराज-वाराणसी रूट पर चलाई गई थी। दूसरी वंदे भारत एक्सप्रेस ट्रेन नई दिल्ली से कटरा के बीच चलती है. वहीं, तीसरी वंदे भारत एक्सप्रेस ट्रेन अहमदाबाद से मुंबई सेंट्रल के बीच चलती है और चौथी वंदे भारत एक्स्प्रेस नई दिल्ली से हिमाचल प्रदेश के बीच चलती है

वंदे भारत ट्रेन अत्याधुनिक सुविधाओं से लैस है. इनमें जीपीएस आधारित सूचना सिस्टम, सीसीटीवी कैमरे, वैक्यूम आधारित बायो टॉयलेट, ऑटोमैटिक स्लाइडिंग डोर समेत तमाम सुविधाएं हैं. नई खूब‍ियों से लैस नेक्‍स्‍ट जनरेशन वाली वंदे भारत 2.0 ट्रेन में कवच (ट्रेन कोलिजन अवॉइडेंस सिस्टम) की सुविधा है. इसके तहत हर कोच में चार इमरजेंसी विंडो जोड़े जाने से अधिक सुरक्षा मिलेगी।


Find Us on Facebook

Trending News