बिहार उत्तरप्रदेश मध्यप्रदेश उत्तराखंड झारखंड छत्तीसगढ़ राजस्थान पंजाब हरियाणा हिमाचल प्रदेश दिल्ली पश्चिम बंगाल

BREAKING NEWS

  • जदयू चिकित्सा सेवा प्रकोष्ठ ने पीएमसीएच में ओपीडी सहित अन्य सुविधाओं के उद्घाटन पर जताई ख़ुशी, कहा सीएम नीतीश के नेतृत्व में स्वास्थ्य सेवाओं का हो रहा विकास
  • जदयू चिकित्सा सेवा प्रकोष्ठ ने पीएमसीएच में ओपीडी सहित अन्य सुविधाओं के उद्घाटन पर जताई ख़ुशी, कहा सीएम

  • 28 फरवरी को सिवान आएंगे रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, जिलाधिकारी और एसपी ने लिया कार्यक्रम स्थल का जायजा
  • 28 फरवरी को सिवान आएंगे रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, जिलाधिकारी और एसपी ने लिया कार्यक्रम स्थल का जायजा

  • यूपी में क्रांस वोटिंग ने अखिलेश को दिया झटका, तीन की जगह राज्यसभा की दो सीटों से ही करना पड़ा संतोष, भाजपा के खाते में आठ सीट
  • यूपी में क्रांस वोटिंग ने अखिलेश को दिया झटका, तीन की जगह राज्यसभा की दो सीटों से ही

  • भाई के हर्ष फायरिंग का वीडियो वायरल होने पर बोले लोजपा के पूर्व जिलाध्यक्ष, कहा विधि सम्मत कार्रवाई के लिए हैं तैयार
  • भाई के हर्ष फायरिंग का वीडियो वायरल होने पर बोले लोजपा के पूर्व जिलाध्यक्ष, कहा विधि सम्मत कार्रवाई

  • तमिलनाडु में रालोमो की इकाई गठित, टी.एस दासप्रकाश बने अध्यक्ष, उपेंद्र कुशवाहा ने दी बधाई
  • तमिलनाडु में रालोमो की इकाई गठित, टी.एस दासप्रकाश बने अध्यक्ष, उपेंद्र कुशवाहा ने दी बधाई

  •  प्रदेश की आपसी सद्भाव को खत्म करना ही जन विश्वास यात्रा का लक्ष्य  : प्रभाकर मिश्र
  • प्रदेश की आपसी सद्भाव को खत्म करना ही जन विश्वास यात्रा का लक्ष्य : प्रभाकर मिश्र

  • नालंदा पहुंचे बीजेपी नेता कैलाश विजयवर्गीय ने इंडिया गठबंधन पर किया हमला, कहा 7 परिवारों ने अस्तित्व बचाने के लिए बनाया एलायंस
  • नालंदा पहुंचे बीजेपी नेता कैलाश विजयवर्गीय ने इंडिया गठबंधन पर किया हमला, कहा 7 परिवारों ने अस्तित्व बचाने

  • 45 साल की शादीशुदा महिला के प्यार में पागल था नाबालिग, जुदा होने का गम नहीं कर सका बर्दाश्त, दे दी जान
  • 45 साल की शादीशुदा महिला के प्यार में पागल था नाबालिग, जुदा होने का गम नहीं कर सका

  • नालंदा में बदमाशों ने चाकू से गोदकर की डॉक्टर के माँ की निर्मम हत्या, परिजनों ने जमीनी विवाद में घटना को अंजाम देने का लगाया आरोप
  • नालंदा में बदमाशों ने चाकू से गोदकर की डॉक्टर के माँ की निर्मम हत्या, परिजनों ने जमीनी विवाद

  • नालंदा में बेटी का इलाज कराकर घर लौट रहे दंपत्ति को अनियंत्रित ट्रक ने रौंदा, पत्नी के सामने ही पति और पुत्री की हुई मौत
  • नालंदा में बेटी का इलाज कराकर घर लौट रहे दंपत्ति को अनियंत्रित ट्रक ने रौंदा, पत्नी के सामने

गोरखपुर में आर्थिक तंगी और कर्ज ने मां-बेटे को आत्महत्या करने के लिए मजबूर, बैंक में काम करनेवाले बड़े बेटे ने नहीं की कोई मदद

गोरखपुर में आर्थिक तंगी और कर्ज ने मां-बेटे को आत्महत्या करने के लिए मजबूर, बैंक में काम करनेवाले बड़े बेटे ने नहीं की कोई मदद

GORAKHPUR : पिछले 15 दिनों में आर्थिक तंगी और सूदखोरों की प्रताड़ना से परिवार के आत्महत्या करने की घटनाएं लगातार सामने आ रही है।  शुरूआत नवादा जिले से हुई, जहां सूद पर लिए पैसे नही चूका पाने के कारण परिवार के छह लोगों ने सामूहिक आत्महत्या कर ली। फिर दो दिन पहले आर्थिक तंगी के कारण गोरखपुर में एक दिव्यांग व्यक्ति ने अपनी दो नाबालिक बेटियों संग फांसी लगा ली। गोरखपुर पुलिस अभी इस मामले की जांच में ही जुटी हुई है। बुधवार को फिर वैसी ही घटना हो गई। 

शहर के जनप्रिय बिहार कालोनी में रहने वाले मां-बेटे ने आर्थिक तंगी और सूदखोरों के दबाव में जहरीला पदार्थ खाकर आत्महत्या कर ली। मरनेवाले महिला का नाम सरोज देवी और युवक का नाम मनीष उर्फ श्रीश बताया गया है। बुधवार की सुबह फोरेंसिक टीम के साथ प्रभारी निरीक्षक थाना गोरखनाथ दुर्गेश सिंह जनप्रिय बिहार कालोनी स्थित सरोज देवी के घर पहुंचे। कमरे का ताला खुलवाने के बाद तलाशी ली तो सुसाइड नोट मिला। इसकी जानकारी होने पर एसपी सिटी कृष्ण कुमार बिश्नोई भी पहुंच गए। आसपास के लोगों से घटना के बारे में जानकारी ली तो पता चला कि आर्थिक तंगी से जूझ रहे मां-बेटे ने खर्च चलाने के लिए सूदखोरों से रुपये लिए थे। जिसे लौटाने का वह दबाव बना रहे थे। 

सुसाइड नोट में लिखा सूदखोरों ने परेशान कर दिया है

तीन पन्ने के सुसाइड नोट में सरोज ने लिखा है कि अधिक कर्ज होने की वजह से आत्महत्या कर रही हूं। रुपये वापस लौटाने के बाद भी सूदखोर जबरन रुपये मांग रहे हैं। उन्होंने मेरे नाम का स्टैंप और चेक ले लिया है। लाइसेंस न होने के बाद भी कुछ महिलाएं ब्याज पर रुपये दे रही हैं। मोनी, सुनीता, लक्ष्मी और सोनू गौड़ ने हमे परेशान कर दिया है।

यह है मामला

मूलत: सिद्धार्थनगर जिले के नौगढ़ क्षेत्र के मोहनाजोत गांव निवासी सत्यप्रकाश राव पीएनबी में काम करते थे।उनकी मौत के बाद पत्नी सरोज देवी बेटे श्रीश राव और मनीष उर्फ विक्की के साथ रहतीं थीं। बड़ा बेटा श्रीश पीएनबी बैंक में खलीलाबाद में कैशियर पद पर तैनात है।छह माह पहले उन्होंने मकान को सामने मैरेज हाउस चलाने वाले बक्शीपुर निवासी सज्जाद अली को बेच दिया था। मां ने मकान बेचने से मिली 69 लाख रुपये बड़े बेटे के साथ संयुक्त खाते में रखा था।

बाद में बेटे ने खाते को एकल करा दिया, जिससे वह खाते से रुपये नहीं निकाल पा रही थी। इसको लेकर विवाद होने पर दिवाली के दिन बड़ा बेटा पत्नी के साथ अपना सामान लेकर अलग जाकर रहने लगा। बैंक में नौकरी करने वाला बड़ा बेटा श्रीश भी मदद नहीं कर रहा था। परेशान होकर वह मंगलवार की दोपहर में छोटे बेटे मनीष उर्फ विक्की के साथ श्रीश से मिलने खलीलाबाद उसके बैंक पर गई थी।जहां उनमें कहासुनी हुई, बाद में वह घर पर लौट आए और रात में जहरीला पदार्थ खा लिया।

कामवाली का एक लाख बाकी

सरोज देवी ने सुसाइड नोट में बड़े बेटे को उनकी मौत के बाद घर में काम करने वाली गायत्री को एक लाख रुपये देने की बात लिखीं हैं। मोहल्ले की ही रहने वाली गायत्री तकरीबन 12 वर्षों से उनके घर में काम कर रही थी। अब वह उनके घर के एक सदस्य की तरह हो गई थी।