पटना में 21 जनवरी तक पूरा होगा जातीय जनगणना का फर्स्ट फेज, हर घर की होगी नम्बरिंग

पटना में 21 जनवरी तक पूरा होगा जातीय जनगणना का फर्स्ट फेज, हर घर की होगी नम्बरिंग

PATNA : जाति आधारित गणना, 2022 का कार्य आज से शुरू हो गया है। पूरे बिहार राज्य में यह हो रहा है। पटना के डीएम डॉ.चंद्रशेखर सिंह ने कहा की हमलोगों ने पटना जिले में भी इसका शुभारंभ किया है। 07 जनवरी से 21 जनवरी, 2023 तक प्रथम चरण चलेगा। इसमें हमलोगों को जितने घर हैं उसकी नम्बरिंग कर देनी है। घर और परिवार की संख्या, मुखिया, परिवार के सदस्यों की संख्या सिर्फ संख्यात्मक विवरणी लेनी है। 14 दिन का पर्याप्त समय है। 

उन्होंने कहा की दूसरा फेज अप्रैल में चलेगा, उसमें हमलोग बाकी डिटेल लेंगे। उसमें कुल 26 कॉलम हैं और सब प्रकार की सामाजिक, आर्थिक और जाति की जानकारी हमलोग सेकेण्ड फेज में लेंगे। हमारा गणना ब्लॉक है, प्रत्येक गणना ब्लॉक में जितने घर हैं, उन घरों की नम्बरिंग करेंगे और परिवार की संख्या, मकान की संख्या उसके बाद परिवार का जो मुखिया है उनका नाम एवं परिवार में सदस्यों की संख्या। एक अपार्टमेंट के सभी फ्लैट का अलग-अलग नम्बर दिया जाएगा। अपार्टमेंट को एक भवन माना जाएगा तथा उसके अंदर अलग-अलग फ्लैट को अलग-अलग मकान माना जाएगा। शुद्धता के साथ स्टेप-बाई-स्टेप कार्य हमलोग कर रहे हैं।

उन्होंने कहा की पटना जिला में लगभग 20 लाख परिवार है, जिसकी गणना होगी। कुल 45 पंचायत है, 23 प्रखंड है, बाकी सभी हमारे नगर निकाय हैं। इसके अलावा हमलोग जो गणना ब्लॉक बनाए हैं वह 12,696 हैं और इतने ही हमारे प्रगणक कर्मी लगे हुए हैं। इसके अलावा दो हजार से ज्यादा सुपरवाईजर लगे हुए हैं। सबको प्रशिक्षित किया गया है। एक गणना ब्लॉक में औसतन 150 मकान एवं 700 की आबादी हैं। शहरी क्षेत्र में कुछ अधिक मकान हो सकते हैं। गणना क्षेत्र के प्रत्येक भवन एवं मकान चाहे वो पूर्ण आवासीय हों, आंशिक आवासीय हों या गैर आवासीय हों, का भ्रमण गणना कर्मियों द्वारा किया जाना अनिवार्य है। बिहार के वैसे निवासी जो किसी कारणवश राज्य या देश से अस्थायी प्रवास की स्थिति में हों उनकी भी गणना की जाएगी। सभी गणना कर्मी अपने-अपने गणना ब्लॉक में हर घर में जाएंगे और जानकारी प्राप्त करेंगे और जो उनका डेटा है उसको डाटा इन्ट्री कराकर फर्स्ट फेज में सेन्टरलाईज कराएंगे। 

डीएम ने बताया की प्रखंडों के वरीय प्रभारी पदाधिकारियों तथा नोडल पदाधिकारियों द्वारा क्षेत्रों का भ्रमण किया जा रहा है एवं जाति आधारित गणना का नियमित निरीक्षण किया जा रहा है। वे स्वयं इसपर लगातार नजर रखे हुए हैं एवं नियमित तौर पर अनुश्रवण कर रहे हैं। सरकार के निदेशों के अनुसार पूरी शुद्धता एवं गुणवत्ता के साथ जाति आधारित गणना सम्पन्न की जाएगी।

Find Us on Facebook

Trending News