पहली बार मोदी सरकार के खिलाफ प्रदर्शन करेगी जदयू, ललन सिंह का ऐलान- बिहार में बिगाड़ने नहीं देंगे साम्प्रदायिक सद्भाव

पहली बार मोदी सरकार के खिलाफ प्रदर्शन करेगी जदयू, ललन सिंह का ऐलान- बिहार में बिगाड़ने नहीं देंगे साम्प्रदायिक सद्भाव

पटना. बिहार में सत्ता परिवर्तन के बाद पहली बार जदयू ने 27 सितम्बर को केंद्र सरकार के खिलाफ सड़क पर उतरने का फैसला किया है. जदयू अध्यक्ष ललन सिंह ने मंगलवार को कहा कि बिहार के प्रत्येक प्रखंड में जदयू कार्यकर्ता 27 सितम्बर को प्रदर्शन करेंगे. उन्होंने भाजपा और केंद्र सरकार पर कथित आरोप लगाते हुए कहा कि देश में महंगाई, बेरोजगारी से ध्यान हटाने के लिए साम्प्रदायिक सद्भाव और सामाजिक सद्भाव खराब करने के प्रयास करने में लगे हुए हैं. इसलिए जदयू की ओर से हर प्रखंड में महंगाई और बेरोजगारी को मुद्दा बनाकर 27 सितम्बर को प्रदर्शन होगा. 

उन्होंने कहा कि हमारा मकसद साम्प्रदायिक एकता के पक्ष में पूरे देश की जनता को जागृत करेंगे. इसके लिए 27 सितम्बर को बड़े स्तर पर प्रदर्शन होगा. उन्होंने कहा कि जेडीयू सड़कों पर आएगी और जनता को सचेत करेगी. ललन सिंह ने कहा कि हम लोग केंद्र सरकार के खिलाफ उतरेंगे. अगर कोई सांप्रदायिक सौहार्द बिगाड़ने की कोशिश करेगा तो उसे छोड़ेंगे नहीं. इसके लिए जनता को जागृत किया जाएगा. 

बिहार में पिछले महीने नीतीश कुमार ने एनडीए से नाता तोड़कर राजद और अन्य दलों के साथ मिलकर महागठबंधन सरकार बनाई थी. उसके बाद यह पहला मौका है जब नीतीश कुमार की पार्टी जदयू सीधे तौर पर केंद्र सरकार के खिलाफ आंदोलन करने सड़क पर उतर रही है. दरअसल, इसी महीने 23 और 24 सितम्बर को अमित शाह भी बिहार आ रहे हैं. वे सीमांचल के जिले पूर्णिया में आ रहे हैं जो अल्पसंख्यक बहुल इलाका है. ऐसे में उनके आगमन को लेकर जदयू अभी से हमलावर है और इसे साम्प्रदायिक सौहार्द बिगाड़ने की रणनीति भी बताया जा रहा है. 

अब ललन सिंह ने 27 सितम्बर को जदयू के प्रदर्शन की घोषणा कर साफ कर दिया है कि शाह के दौरे के बाद अब जदयू भी केंद्र सरकार को जनहित के मुद्दे पर घेरने को तैयार है. उन्होंने साफ तौर पर कहा है कि महंगाई और बेरोजगारी के मुद्दे पर केंद्र सरकार के खिलाफ जदयू का यह प्रदर्शन होगा. 


Find Us on Facebook

Trending News