'हाथ' छोड़ चुके राम जतन सिन्हा अब संभालेंगे तीर, 12 फरवरी को जेडीयू में शामिल होंगे कांग्रेस के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष

PATNA : बिहार कांग्रेस के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष राम जतन सिन्हा जदयू में शामिल होंगे। राम जतन सिन्हा आगामी 12 फरवरी को होने वाले मिलन समारोह में जदयू की सदस्यता लेंगे। लोकसभा चुनाव के पहले राम जतन सिन्हा का जदयू में शामिल होना अहम माना जा रहा है। राम जतन सिन्हा के स्वागत को लेकर जदयू भी अभी से तैयारी में जुट गया है। माना जा रहा है कि उनके मिलन समारोह में पार्टी के कई बड़े चेहरे मौजूद रहेंगे।

विधानसभा चुनाव के दौरान छोड़ी थी कांग्रेस

कांग्रेस के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष राम जतन सिन्हा ने 2015 के विधानसभा चुनाव के दौरान हाथ का साथ छोड़ दिया था।  राम जतन सिन्हा ने जहानाबाद के कुर्था विधानसभा सीट से निर्दलीय उम्मीदवार के तौर पर चुनाव भी लड़ा लेकिन उन्हें हार का मुंह देखना पड़ा। हालांकि बाद के दिनों में वह राजनीतिक तौर पर सक्रिय नहीं रहे। लेकिन बिहार कांग्रेस के अंदर अपने विरोधी खेमे को मजबूत होता देख रामजतन सिन्हा ने लगभग यह मान लिया था कि अब उनकी घर वापसी संभव नहीं।  लिहाजा अब उन्होंने जदयू में शामिल होने का फैसला ले लिया। 

कांग्रेस के सवर्ण कार्ड को जवाब देने की तैयारी

भूमिहार जाति से आने वाले राम जतन सिन्हा का जदयू में शामिल होना नए सियासी समीकरण गढ़ सकता है। राजनीतिक जानकार मानते हैं कि जदयू अगड़ी जाति के नेताओं को अपने साथ जोड़कर कांग्रेस के सवर्ण कार्ड को जवाब देने की तैयारी में है। हाल के वक्त में कांग्रेस ने अपने साथ कई सवर्ण नेताओं को जोड़ा है। पूर्व सांसद लवली आनंद का कांग्रेस में शामिल होना भी ऐसी कड़ी का हिस्सा है। जाहिर है जेडीयू भी सवर्ण चेहरों से अपने खेमे को मजबूत कर रहा है।

Find Us on Facebook