15 हजार करोड़ की परियोजनाओं की सौगात : बिहार में नहीं मिलेगी फ्री बिजली, सीएम नीतीश बोले- महंगी बिजली खरीदकर लोगों को सस्ते में देते हैं

15 हजार करोड़ की परियोजनाओं की सौगात : बिहार में नहीं मिलेगी फ्री बिजली, सीएम नीतीश बोले- महंगी बिजली खरीदकर लोगों को सस्ते में देते हैं

पटना. बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने आज विजली के क्षेत्र में प्रीपेड मीटर समेत कई प्रोजेक्टों का लोकार्पण किया। इस दौरान सीएम नीतीश ने कहा कि बिहार सरकार लोगों को आसानी से बिजली उपलब्ध कराने के लिए हर संभव काम कर रही है। इस दौरान उन्होंने स्पष्ट रूप से कहा कि बिहार में बिजली फ्री में नहीं मिलेगी। उन्होंने विपक्षियों पर निशाना साधते हुए कहा कि कुछ लोग कहते हैं कि बिजली फ्री में मिले, लोगों का बिजली बिल माफ होना चाहिए। ये सब बातें अनाप शनाप हैं। उन्होंने कहा कि सरकार लोगों को सस्ती बिजली उपलब्ध करवाती है।

दरअसल, आज मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने 15871.24 करोड़ रुपये की प्रयोजनाओं की सौगात बिहार को दिया। इसमें 2635.30 करोड़ रुपये की योजनाओं का लोकार्पण, 5930.89 करोड़ रुपए की योजनाओं का शिलान्यास और 7305.05 करोड़ रुपये की योजनाओं का शुभारंभ किया। इसके अलावा मुख्यमंत्री ग्रामीण बिजली उपभोक्ताओं के यहां स्मार्ट प्रीपेड मीटर लगाने के कार्य का शुभारंभ भी किया।

इस दौरान सीएम नीतीश ने कहा कि बिहार सरकार लोगों को आसानी से बिजली उपलब्ध कराने के लिए हर संभव काम कर रही है। कई नये प्रोजेक्ट के जरिये बिजली उत्पादन की क्षमता भी विकसित की जा रही है। सूबे के कई जिलों में प्रीपेड मीटर लगने का काम भी शुरू हो गया है। जल्द ही सरकार परियोजना के सभी कामों को पूरा कर लेगी। उन्होंने कहा कि बिहार सरकार महंगी बिजली खरीदने के बावजूद लोगों को सस्ते दर पर उपलब्ध कराती है, ताकि लोगों को किसी समस्या का सामना न करना पड़े।

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि पूरे बिहार भर में 2025 तक प्रीपेड मीटर हर घर तक लगाने का लक्ष्य रखा गया है। स्मार्ट प्रीपेड मीटर जल्दी बिहार के हर घर मे मैं लग जाए मैं उसकी उम्मीद करता हूं। सौर ऊर्जा को भी बढ़ावा देने के लिए ऊर्जा विभाग को काम करना है। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने ऊर्जा विभाग के पदाधिकारियों से कहा मैं भी इंजीनियर हूं और इंजीनियरिंग के बाद को समझता हूं। मैंने अपनी नौकरी को छोड़कर राजनीति में काम किया। ऊर्जा विभाग के इंजीनियरों से मेरी उम्मीद है कि वह बिहार में प्रीपेड मीटर जल्द से जल्द लगाएंगे।

उन्होंने कहा कि राज्य सरकार बिजली का तार जो जनता से लेती है। वह खरीद रेट से कम लेती है। मुफ्त में बिजली देने वाले बात जो लोग कहते हैं। वह अनाप-शनाप बात है। कुछ जगहों पर मुफ्त बिजली देने का काम जो किया जा रहा है। वह सही नहीं है। बिहार में उपभोक्ताओं को जो बिजली दर लिया जा रहा है। बिजली खरीद दर से सस्ती दर पर ली जा रही है। हर वार्ड में सोलर स्ट्रीट लाइट पहुंचाने का काम बिहार सरकार कर रही है।

Find Us on Facebook

Trending News