एक रूपये किलो भी नहीं बिका गोभी तो किसान ने खेत में चला दी ट्रैक्टर, जानिए पूरा मामला

एक रूपये किलो भी नहीं बिका गोभी तो किसान ने खेत में चला दी ट्रैक्टर, जानिए पूरा मामला

SAMASTIPUR : एक तरफ देश के कई राज्यों के किसान बीते कई दिनों से नए कृषि बिल कानून के विरोध में प्रदर्शन कर रहे हैं. वहीँ दूसरी तरफ सरकार किसान को कृषि बिल से होने वाले फायदे गिनाने में जुटी है. लेकिन इसकी जमीनी हकीकत क्या है. इसका ताजा उदाहरण समस्तीपुर जिले में देखने को मिल रहा है. जहाँ एक किसान ने गोभी का उचित दाम नहीं मिलने पर अपनी तैयार फसल पर ट्रैक्टर चलाते हुए उसे जमींदोज कर दिया. 

मामला जिला के मुक्तापुर की है जहां किसान ओम प्रकाश यादव ने गोभी की खेती में चार हजार रुपए प्रति कट्ठा का खर्च आने और यहां की मंडी में एक रुपए किलो भी नहीं बिकने पर नाराजगी जताते हुए अपनी तैयार फसल पर ट्रैक्टर चलाते हुए उसे नष्ट कर दिया. फसल पर ट्रैक्टर चलाने के बाद पीड़ित किसान ने बताया कि पहले तो गोभी को मजदूर से कटवाना पड़ता है, फिर अपना बोड़ा देते हुए उसे पैक करवाना होता है. इसके बाद उसे ठेला या किसी अन्य गाड़ी की मदद से मंडी पहुंचाना पड़ता है. लेकिन वहां आढ़त में एक रुपए प्रति किलो भी गोभी की फसल खरीदने को व्यापारी तैयार नहीं है. मजबूरन उसे अपनी फसल पर ट्रैक्टर चलवाना पड़ा. 

वहीं पीड़ित किसान ने कहा कि दूसरी बार उसकी फसल बर्बाद हुई है. इससे पहले भी उसकी फसल को कोई खरीदने वाला नहीं था. किसान ने कहा कि अबकी बार वह अपनी जमीन पर गेहूं की बुआई करेंगे. उन्होंने कहा कि सरकार से एक रुपया लाभ नहीं मिल रहा है. इससे पहले उनका काफी गेहूं खराब हो गया था तो सरकार से एक हजार 90 रुपए का मुआवजा मिला था. वह 8 से 10 बीघे में खेती करते हैं और सरकार की ओर से एक हजार रुपया क्षतिपूर्ति मिलता है. वहीँ गोभी को नष्ट करते देखकर वहां लोगों का हुजूम उमड़ पड़ा. लोगों गोभी उठाकर अपने घर ले जाने लगे. 

समस्तीपुर से संजीव तरुण की रिपोर्ट 


Find Us on Facebook

Trending News