आपराधिक घटना को अंजाम देने के फ़िराक में थे अपराधी, ग्रामीणों ने कर दी जमकर पिटाई

आपराधिक घटना को अंजाम देने के फ़िराक में थे अपराधी, ग्रामीणों ने कर दी जमकर पिटाई

BHAGALPUR : जिले के औद्योगिक थाना क्षेत्र के मंसूरपुर गांव में हथियारबंद अपराधी किसी आपराधिक घटना को अंजाम देने की फ़िराक में थे. इसी बीच ग्रामीणों की नजर अपराधियों पर पड़ गयी. जिसके बाद ग्रामीणों ने हथियार के साथ अपराधियों को पकड़ लिया और बिजली के पोल से बांधकर उनकी जमकर पिटाई कर दी. पिटाई के बाद जब औद्योगिक थाना को इसकी सूचना मिली तो पुलिस ने आरोपी को गांव वालों से छुड़ाकर इलाज के लिए मायागंज अस्पताल में भर्ती कराया. जहां औद्योगिक थाना क्षेत्र के फतेहपुर निवासी मोहम्मद शहंशाह की हालत नाजुक है. 

इसके पहले भी मोहम्मद शहंशाह मंसरपुर गांव में किसी के घर चोरी करते पकड़ा गया था और स्थानीय लोगों द्वारा उसकी जमकर पिटाई की गई थी. इस मामले में भागलपुर की सीनियर एसपी निताशा गुड़िया के अनुसार अपराधियों की गिरफ्तारी हेतु चलाई जा रही विशेष अभियान को जिले के सभी थाना द्वारा चलाया जा रहा है. इसी क्रम में आज गुप्त सूचना प्राप्त हुई की औद्योगिक थाना क्षेत्र अंतर्गत मंसूरपुर गांव में एक हथियारबंद किसी आपराधिक घटना को अंजाम देने की फिराक में है. इसके बाद उन्हें पकड़ने के लिए थाना अध्यक्ष औद्योगिक क्षेत्र को निर्देशित किया गया. जिसके बाद थाना अध्यक्ष राजरतन दल बल के साथ घटनास्थल पर पहुंचे और हथियार से लैस अपराधी मोहम्मद शहंशाह को एक लोडेड देशी कट्टा के साथ गिरफ्तार किया गया.

उधर हद तो तब हो गयी जब औद्योगिक थाना की पुलिस मायागंज अस्पताल पहुंची और नियम कानून को ताक पर रखकर बेहोश पड़े हुए आरोपी शहंशाह के अंगूठे का निशान ले लिया. जो पूरी तरह गैरकानूनी है. इस मामले में सीनियर अधिवक्ता ओम प्रकाश तिवारी ने बताया कि बेहोशी की हालत में किसी का सिग्नेचर या अंगूठे का निशान लेना कानूनन अपराध है. वह भी पुलिस वालों के द्वारा जबकि नियम और कानून उनके इर्द-गिर्द ही घूमता है. फिर भी ऐसी गलती काफी निंदनीय कार्य है. 

भागलपुर से अंजनी कुमार कश्यप की रिपोर्ट 

Find Us on Facebook

Trending News