समय पर नहीं आए गुरुजी, नाराज शिष्यों ने कर दी विद्यालय में तालाबंदी, पहुंच गए थाने

समय पर नहीं आए गुरुजी, नाराज शिष्यों ने कर दी विद्यालय में तालाबंदी, पहुंच गए थाने

SARAN : सरकार अगर समय पर वेतन नहीं दे, तो यह लोग राजधानी में धरना प्रदर्शन करने पहुंच जाते हैं, लेकिन स्कूल में समय पर आने को लेकर इनकी कोई जिम्मेदारी नहीं है। यह बिहार के सरकारी स्कूलों के शिक्षक हैं। जिनकी लेटलतीफी से अब छात्र भी परेशान होने लगे हैं। शिक्षकों की इन्हीं लेटलटीफी माध्यमिक विद्यालय के छात्रों को ऐसा नागवार गुजरा कि उन्होंने स्कूल के गेट में ताला जड़ दिया और इसके बाद सीधे नजदीकी थाने पहुंच गए। छात्रों को थाने में देखकर थानाध्यक्ष भी हैरान हो गए। उन्होंने पहले बच्चों की शिकायत लिखी, बाद में वह खुद उनके साथ स्कूल पहुंचकर ताला खुलवाया। चौंकानेवाली बात यह है कि इस दौरान स्थानीय बीईओ स्कूल पहुंच गई,लेकिन स्कूल को कोई टीचर नजर नहीं आया। 

मामला सारण जिले से जुड़ा है। जहां मशरक प्रखंड मुख्यालय के पास स्थित स्टेशन रोड उत्क्रमित मध्य विद्यालय आश्रम में गुरुजी की लेटलतीफी की आदत से छात्र परेशान हो चुके हैं। यहां न तो समय पर स्कूल के प्राचार्य पहुंचते हैं और न ही दूसरे टीचर। उनकी इन आदतों से परेशान कुछ छात्रों ने स्कूल के गेट में ताला लगा दिया और सीधे थाने पहुंच गए। 6 से 15 साल के इन छात्रों की छात्रों को देख मशरक थानेदार राजेश कुमार भी चौंक गए। पहले उन्होंने बच्चों की बातें सुनी और उनकी शिकायत नोट की। थानेदार ने इसके बाद जिला शिक्षा पदाधिकारी (DEO) और प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी (BEO) को फोन कर मामले की जानकारी दी। स्कूल की व्यवस्था को लेकर छात्रों की शिकायत के बारे में बताया। फिर थानेदार खुद बच्चों के साथ स्कूल पहुंचे और मेन गेट खुलवाया।


बीईओ पहुंची, लेकिन स्कूल के शिक्षक

बच्चों की ओर से शिकायत पर थानेदार द्वारा सूचना मिलने के बाद प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी डॉ. वीणा कुमारी आनन-फानन में मौके पर पहुंच गई। जिन्होंने स्कूल पहुंचने पर वहां नियुक्त सभी 9 शिक्षक अनुपस्थित पाया। स्कूल का मुआयना करने के बाद प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी ने बताया कि हेड मास्टर सहित सभी शिक्षकों से जवाब-तलब किया जाएगा।

Find Us on Facebook

Trending News