ब्रह्मेश्‍वर मुखिया हत्‍याकांड में अब कैसे मिलेगी दोषियों को सजा, मुख्य गवाह पर हुआ जानलेवा हमला

ब्रह्मेश्‍वर मुखिया हत्‍याकांड में अब कैसे मिलेगी दोषियों को सजा, मुख्य गवाह पर हुआ जानलेवा हमला

पटना. रणवीर सेना प्रमुख रहे ब्रह्मेश्‍वर मुखिया की हत्या का दोषी कौन है और किसने बिहार में इस बड़े हत्याकांड को अंजाम दिया यह सवाल शायद सवाल बनकर ही रह जाएगा. इसका बड़ा ब्रह्मेश्‍वर मुखिया हत्याकांड के मुख्य गवाह पर हुआ जानलेवा हमला है. मामले में मुख्‍य गवाह ओमप्रकाश राय पर पटना के शाहपुर थाना क्षेत्र में जानलेवा हमला हुआ है. 

इस बीच एक वायरल ऑडियो क्लिप में ओमप्रकाश किसी व्यक्ति से बात करता सुना जा रहा है. इसमें मुखिया हत्याकांड में गवाही देने की बात की जा रही है. हालाँकि इसकी पुष्टि नहीं हुई है कि आवाज किसकी है. वहीं सूत्रों का कहना है कि ओमप्रकाश को गवाही देने से रोकने के लिए उसे धमकाया गया. आरा जिला निवासी ओमप्रकाश इस मामले मुख्य गवाह रहा है. 

दो दिन पहले अज्ञात रंजिश में ओमप्रकाश पर हमला हुआ और वह घायल हो गया. ओम प्रकाश राय ने हमला करने का आरोप धर्मेंद्र पर लगाया है. पटेल नगर निवासी धर्मेन्द्र के खिलाफ शाहपुर थाना में मामला दर्ज किया गया है. थानाध्यक्ष सफीर आलम के अनुसार धर्मेंद्र के खिलाफ ओमप्रकाश की शिकायत पर प्राथमिकी दर्ज की गई है. 

रणवीर सेना के संस्थापक माने जाने वाले ब्रह्मेश्वर मुखिया की हत्या 1 जून 2012 को हुई थी. बिहार के शाहबाद के भोजपुर जिला के खोपिरा गांव निवासी ब्रह्मेश्वर नाथ सिंह उर्फ मुखिया उस दिन रोज की तरह सुबह सवा चार बजे जगे थे. घर से टहलने के लिए बाहर निकले और अपने घर से महज 200 मीटर की दूरी पर छह लोगों द्वारा उन पर ताबड़तोड़ गोलियां बरसाई जाती है. उनकी मौके पर ही मौत हो गई. उसके बाद बिहार ने आक्रोश का जो रूद्र रूप देखा उसमे आरा से पटना तक लोगों का गुस्सा देखा गया था. मगध का क्षेत्र हो या शाहबाद का क्षेत्र तमाम जो उनके समर्थक थे वो करीब 3 लाख से ज्यादा की संख्या में उनकी शवयात्रा में शरीक हुए और आरा से पटना तक की सड़क समर्थकों से पट गई. उस दिन पटना में खूब हंगामा हुआ. बाद में बिहार सरकार ने मामले की जाँच सीबीआई को सौंपी लेकिन आज तक किसी को सजा नहीं हुई है. 


Find Us on Facebook

Trending News