गंडक के बढ़ते जलस्तर से भयभीत हैं नदी किनारे रहनेवाले सैंकड़ों परिवार, अब तक कई एकड़ जमीन हो चुके हैं विलीन

गंडक के बढ़ते जलस्तर से भयभीत हैं नदी किनारे रहनेवाले सैंकड़ों परिवार, अब तक कई एकड़ जमीन हो चुके हैं विलीन

GOPALGANJ :  नेपाल के तराई इलाकों में हो रही बारिश के कारण दियारावासियों की मुश्किले लगातार बढ़ती जा रही है। बढ़ते गंडक के जलस्तर ने कटाव ने धीरे-धीरे कटाव करते हुए गांव की तरह बढ़ने लगा है। जिसे दियारावासियों की मुश्किलें और भी बढ़ गई है। स्थानीय लोग नदी किनारे एकत्रित होकर निगरानी कर रहे हैं।


 दरअसल वाल्मीकि नगर बराज से छोड़े गए 240800 क्यूसेक  पानी के कारण गंडक का जलस्तर बढ़ते देख लोग भयभीत हैं। वहीं माझा प्रखंड के निमुनिया पंचायत के में गंडक नदी कटाव कर रही है, जिसे किसानों के कई एकड़ जमीन नदी में विलीन होते जा रहे हैं। स्थानीय लोग गंडक नदी के तट पर निगरानी कर रहे हैं।  स्थानीय लोगों ने बताया कि जिस तरह से पानी बढ़ती जा रही है ऐसे में यह पानी धीरे-धीरे गांव की ओर प्रवेश कर रहा है। करोड़ों रुपए की लागत से बनाए गए बल्ला पाइलिंग भी नाकाफी साबित हुई। बल्ला पाइलिंग होते देखा स्थानीय लोग कुछ राहत की सांस ले रहे थे क्योंकि कटाव रोकने में सहूलियत मिलेगी लेकिन बल्ला पाइलिंग में करोड़ों रुपए खर्च हो गए बावजूद कटाव  नहीं रुक रहे हैं। वही जलस्तर भी गांव की तरफ प्रवेश कर गया है।  

कई लोग अपने घरों को छोड़कर ऊंचे स्थान पर जाने लगे हैं लोगों के चेहरे पर खौफ साफ तौर पर नजर आ रहा है। वहीं सूचना पाकर माझा प्रखंड के अंचलाधिकारी के अलावे सर्किल इंस्पेक्टर मौक़े पर पहुंच कर निरीक्षण किया। उन्होंने बताया कि नदी के जलस्तर पर पूरी निगरानी रखी जा रही है। किसी भी स्थिति से निपटने के लिए हमारी टीम तैयार है।

Find Us on Facebook

Trending News