जिस टीम इंडिया के प्रदर्शन से ICC को होती है 80 फीसदी कमाई, उसी टीम को परोसे गए बासी सैंडविच और खीरा-टमाटर, हो गया बड़ा बवाल

जिस टीम इंडिया के प्रदर्शन से ICC को होती है 80 फीसदी कमाई, उसी टीम को परोसे गए बासी सैंडविच और खीरा-टमाटर, हो गया बड़ा बवाल

DESK : यह बात सर्वविदित है आईसीसी टी-20 विश्वकप में आईसीसी को तभी फायदा होगा, जब भारतीय टीम का प्रदर्शन बेहतर होगा। पाकिस्तान के खिलाफ हुए पहले मैच में यह बात साबित हो गई है। लेकिन, इसके बाद भी भारतीय टीम के खिलाड़ियों को लेकर आईसीसी की तरफ से जो इंतजाम किए गए हैं, वह बेहद ही खराब है। जिसको लेकर भारतीय टीम मैनेजमेंट ने लिखित शिकायत भी दर्ज करा दी है। 

दरअसल, टी-20 वर्ल्ड कप 2022 में पाकिस्तान के खिलाफ मिली जीत के बाद भारतीय टीम का दूसरा मुकाबला नीदरलैंड्स के साथ सिडनी में होना है। प्रैक्टिस के बाद हर खिलाड़ी फुल मील के लिए आतुर था, लेकिन इस प्रैक्टिस के बाद आईसीसी की तरफ से खाना दिया गया, उसमें सिर्फ सैंडविच, फल और फलाफल था। बताया गया कि जो सैंडविच दिए गए वह भी ठंडे थे। जिसे कई खिलाड़ियों ने नहीं खाया और अपने होटल जाकर ही खाना खाया। बीसीसीआई अधिकारी का कहना है कि यह किसी बायकॉट की तरह नहीं है, बल्कि हर कोई इतनी बढ़िया प्रैक्टिस के बाद लंच करना चाहता था क्योंकि वही जरूरी था.

बीसीसीआई अधिकारी ने कहा कि दो घंटे की ट्रेनिंग के बाद आप सिर्फ ठंडे सैंडविच, अवाकाडो, खीरा और टमाटर नहीं खा सकते. इतना ही नहीं टीम इंडिया प्रैक्टिस सेशन के लिए मिली दूर जगह से भी खफा थी, ऐसे में उन्होंने एक ही दिन प्रैक्टिस करने का फैसला लिया. यही वजह है कि टीम इंडिया के मैनेजमेंट ने इस मामले में आईसीसी से आधिकारिक शिकायत कर दी है.

दरअसल, टी-20 वर्ल्ड कप आईसीसी का इवेंट है और सभी प्रैक्टिस सेशन समेत अन्य चीज़ों के लिए सुविधा करना आईसीसी का ही काम है. जिस ब्रेकफास्ट को लेकर विवाद हुआ है, वह आईसीसी द्वारा ही अरेंज किया गया है और सभी टीमों के लिए एक जैसा ही मेन्यू है. ऐसे में भारतीय टीम को भी वही मिला है।


Find Us on Facebook

Trending News