BIHAR NEWS : कलयुगी मामा ने रिश्ते को किया शर्मसार, भांजी को नौ लाख रूपये में बेचा, परिजनों ने पुलिस से की शिकायत

BIHAR NEWS : कलयुगी मामा ने रिश्ते को किया शर्मसार, भांजी को नौ लाख रूपये में बेचा, परिजनों ने पुलिस से की शिकायत

AURANGABAD : बिहार की पुलिस चाइल्ड ट्रैफिकिंग को लेकर कितना ही सजग क्यों न हो। लेकिन इस व्यवसाय में संलिप्त लोग ऐसे वारदात को करने में सफल हो जाते है और पुलिस हाथ पर हाथ धरे बैठी रह जाती है। इतना ही नहीं इस पीड़ा से गुजर रहे परिजनों की गुहार पर भी पुलिस प्रशासन कोई कार्रवाई नही करती और चाइल्ड ट्रैफिकिंग की दूसरी घटना घट जाती है। ऐसा ही एक मामला औरंगाबाद जिले के ओबरा थाना क्षेत्र के सदीपुर डिहरी में घटी है। जहां एक मामा ने अपनी 16 वर्षीय भांजी को राजस्थान ले जाकर 50 वर्षीय व्यक्ति के हाथों बेच दिया। 


इस घटना के चार माह होने को है। लेकिन अभी तक पुलिस प्रशासन के द्वारा कोई कार्रवाई नही की जा सकी है। इस संबंध में किशोरी की मां ने पूरे मामले को विस्तार से बताते हुए एसपी से अपनी बच्ची के सकुशल बरामदगी की गुहार लगाई है। एसपी को दिए आवेदन में किशोरी की मां ने बताया है कि उसने अपनी बेटी को अपने ही मां पिता के घर उनके खाना बनाने के लिए छोड़ रखा था। माता पिता के प्यार को देखते हुए मैने उनकी सेवा में अपनी बेटी को लगा दिया था। लेकिन 26 जुलाई को बारुण के लल्लू बिगहा निवासी मेरी बहन ने बताया कि मेरी बेटी 21 जुलाई से ही गायब है। 

अपनी बेटी के गायब होने की सूचना पर काफी परेशान हो गई। जब इसका पता लगाया तो जानकारी मिली कि मेरी ही बेटी को मेरे ही मां, पिता, भाई और अन्य ने मिलकर राजस्थान के सत्यनारायण अग्रवाल के हाथों बेच दिया है। इस मामले में किशोरी की मां ने 9 लोगों को आरोपित बनाकर कार्रवाई की मांग पुलिस अधीक्षक से की है। जबकि इस मामले में राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग के अध्यक्ष के प्रधान निजी सचिव धर्मेंद्र भंडारी ने पीड़िता के आवेदन के आलोक में संज्ञान लेते हुए अपने पत्रांक BR 236793/ 21- 22/जेजे/एनसीपीसीआर/दिनांक 6/ 9/2022 से औरंगाबाद के एसपी को एक पत्र लिखकर दस दिन के अंदर जानकारी मांगी है। 

इधर किशोरी की बड़ी बहन भी कई दिनों से अधिकारियों को आवेदन देकर कार्यालय दर कार्यालय का चक्कर लगा रही है। लेकिन अभी तक सफलता तो दूर उसके शिकायत पर कोई सुनवाई तक नही हुई। बहन ने बताया कि उसकी बहन को उसके ही मामा ने ही राजस्थान के सत्यनारायण अग्रवाल के हाथों 9 लाख रुपए में बेच दिया और वह उसे वापस लाने के लिए दर दर भटक रही है। लेकिन कही कोई सुनवाई नहीं हो रही है। 

औरंगाबाद से दीनानाथ मौआर की रिपोर्ट 

Find Us on Facebook

Trending News