बिहार में शिक्षक भर्ती में होगा नया फार्मूला लागू, राज्य सरकार ने दो साल पुराने नियमावली में किया बड़ा बदलाव

बिहार में शिक्षक भर्ती में होगा नया फार्मूला लागू, राज्य सरकार ने दो साल पुराने नियमावली में किया बड़ा बदलाव

PATNA : बिहार सरकार जल्द ही कक्षा एक से 12वीं तक लगभग पौने दो लाख शिक्षकों की बहाली करने की तैयारी में है। लेकिन उससे पहले ही इसके नियमावली में बड़ा बदलाव किया जा रहा है। नए नियमावली के अनुसार बीटेट, सीटेट और एसटीईटी के रिजल्ट पर 60 प्रतिशत और शैक्षणिक व प्रशिक्षण योग्यता (मैट्रिक से स्नातकोत्तर, डीएलएड और बीएड तक) 40 प्रतिशत वेटेज मिलेगा। शिक्षक नियुक्ति के लिए नई नियमावली-2022 लगभग तैयार है। इस पर सिर्फ कैबिनेट की मुहर लगनी बाकी है। 

गौरतलब है कि 2020 की शिक्षक भर्ती नियमावली में टीईटी और एसटीईटी का वेटेज जो पहले 2 से 10 अंक तक मिलता था, उसे खत्म कर दिया गया था। प्रारंभिक स्कूलों में लगभग एक लाख शिक्षकों की बहाली के लिए वैकेंसी अगस्त के अंत तक आएगी। वहीं, हाईस्कूलों में 75 से 80 हजार पदों के लिए रिक्तियां सितंबर या अक्टूबर में आएंगी। पिछले दिनों शिक्षा विभाग में नियुक्ति नियमावली और रिक्ति मामले पर लगातार विभिन्न स्तरों पर मैराथन बैठक हुई थी।

इस फार्मूले पर होगी नियुक्ति

कक्षा 1 से 5 | मैट्रिक, इंटर और प्रशिक्षण के कुल प्राप्त अंकों के योग को तीन से भाग देने पर कुल मेधा अंक बनता था। इसमें पात्रता परीक्षा में प्राप्तांक के आधार पर 55 से 70% तक 2 अंक, 70 से 80% तक 4 अंक, 80 से 90% 6 अंक और 90 से अधिक पर 10 अंक का वेटेज मिलता था।

 मैट्रिक, इंटर व प्रशिक्षण के कुल प्रप्ता अंकों के योग को तीन से भाग देने पर कुल मेधा अंक आएगा, इसका 40%निकाला जाएगा। बीटेट या सीटेट के कुल अंकों का 60%निकाल कर दोनों को जोड़ कर फाइनल मेधासूची बनेगी।

कक्षा 6 से 8| मैट्रिक, इंटर, स्नातक और प्रशिक्षण के कुल प्राप्त अंकों में 4 से भाग देकर कुल मेधा अंक बनता था। इसमें पात्रता परीक्षा में प्राप्तांक के आधार पर 55 से 70% तक 2 अंक, 70 से 80% तक 4 अंक, 80 से 90% तक 6 अंक और 90 से अधिक पर 10 अंक का वेटेज था। शेष पेज 20 पर

स्नातक और प्रशिक्षण के कुल प्राप्त अंकों को 2 से भाग देकर जो अंक होगा, इसका 40%निकाला जाएगा। फिर टीईटी के कुल अंकों का 60%अंक निकाल कर दोनों को जोड़ कर फाइनल मेधा सूची बनेगी।

कक्षा 9 व 10 | स्नातक व प्रशिक्षण के प्राप्तांक को 2 से भाग देकर उसका 40% निकालेगा। फिर, एसटीईटी के अंकों का 60% निकाल दोनों को जोड़ मेधासूची बनेगी।


Find Us on Facebook

Trending News