गया में फेसबुक पर हुई पहचान प्यार में बदली, परिजन बने अड़चन तो पुलिस थाना में हुआ निकाह

गया में फेसबुक पर हुई पहचान प्यार में बदली, परिजन बने अड़चन तो पुलिस थाना में हुआ निकाह

गया. सोशल मीडिया प्लेटफार्म्स इन दिनों प्रेम विवाह का सबसे बड़ा जरिया बन रहा है। इन साइट्स के जरिये न केवल अजनबी एक दूसरे से परिचित हो रहे हैं, बल्कि दिल देने में भी किशोर किशोरी देर नहीं कर रहे। ऐसा ही एक मामला गया जिले के इमामगंज थाना से आया है। यहां सोशल मीडिया प्लेटफार्म से शुरू हुई पहचान के बाद प्यार औप फिर पुलिस थाना में निकाह के बाद दोनों एक दूसरे के बंधन में बंध गये हैं।

यह निकाह इमामगंज थाना परिसर में पुलिस कर्मियों की मौजूदगी में हुआ। जहां अजब प्रेम की गजब कहानी उस वख्त देखने को मिला, जब बोधगया थाना क्षेत्र के बिशनपुरा गांव निवासी युवक मो. छोटू खान ने इमामगंज थाना क्षेत्र के कोचिया दरभंगा गांव की रहने वाली युवती लाडली खातून के घर पहुंच गया और शादी करने का दबाब बनाने लगा, लेकिन लाडली खातून के परिवार वाले ने शादी करने से इंकार कर दिया। ऐसे में दिल का मामला इमामगंज थाने तक जा पहुंचा।

इसके बाद काफी मशक्कत और हाई वोल्टेज ड्रामा के बाद थाना परिसर के थानाध्यक्ष उदय शंकर के समझाने बुझाने के बाद दोनों परिवार के लोग इस निकाह को लेकर राजी हुए। दोनों परिवारों के रजामंदी के बाद स्थानीय थाना परिसर में मुस्लिम रीति रिवाज से दोनों प्रेमी जोड़े का निकाह हुआ। जहां काजी मो. सैफुल्लाह ने नमाज अदा करा कर निकाह करवाया। इसकी गवाह खुद इमामगंज थाने की पुलिस बनी है।

वहीं, इस संबंध में स्थानीय थानाध्यक्ष उदय शंकर ने बताया कि इमामगंज थाना क्षेत्र के कोचिया दरभंगा गांव के रहने वाली युवती लाडली खातून की पहचान फेसबुक पर बोध गया थाना क्षेत्र के बिशनपुरा गांव निवासी युवक मो. छोटू खान ने से हुई। इसके बाद दोनों में पहले बातचीत और फिर प्यार हो गया। फिर घर से भाग कर कोर्ट मैरिज में दोनों ने निकाह कर लिया, लेकिन इस बीच दोनों परिवारों में अड़चन जैसा मामला आ गया और युवती अपने प्रेमी से बिछड़ कर अपने घर चली आई। लेकिन कुछ दिनों के बाद प्रेमी अपनी प्रेमिका से मिलने लाडली के घर पहुंच गया। वहां से बात नहीं बनी तो उसने इसकी सूचना इमामगंज थाने की पुलिस को दी। यहां दोनों परिवारों को राजी करवाने के बाद दोनों प्रेमी युगल को थाना परिसर में मुस्लिम रीति रिवाज से निकाह करवाया गया है। इस दौरान स्थानीय थानाध्यक्ष उदय शंकर कुमार, एसआई धर्मेंद्र कुमार, चंद्रमोहन मिश्रा, काजी मो. सैफुल्लाह, मो. फैसल खान, मो. गुफरान अहमद एवं युवक-युवती के परिजनों मौजूद थे।

Find Us on Facebook

Trending News