हाजीपुर में सरकारी डॉक्टर ने अपने नर्सिंग होम में मामूली बीमारी के लिए करवाया 20 से ज्यादा मेडिकल टेस्ट, फिर बड़ी रकम देने के लिए बनाया दबाव, मौके पर पहुंचे पप्पू यादव ने जमकर लगायी फटकार

हाजीपुर में सरकारी डॉक्टर ने अपने नर्सिंग होम में मामूली बीमारी के लिए करवाया 20 से ज्यादा मेडिकल टेस्ट, फिर बड़ी रकम देने के लिए बनाया दबाव, मौके पर पहुंचे पप्पू यादव ने जमकर लगायी फटकार

हाजीपुर. सरकारी अस्पताल में तैनात डॉक्टर हरिप्रसाद ने अस्पताल से कुछ ही दूर अपना निजी नर्सिंग होम चला रहे थे। यहां एक सामान्य मरीज को 20 से 25 मेडिकल जांच करवाकर उनसे रुपये ऐठ रहे थे। इस पर पीड़िता ने पप्पू यादव से शिकायत कर गुहार लगायी। यहां पहुंचे पप्पू यादव ने जमकर डॉक्टर की क्लास लगायी।

दरअसल पप्पू यादव को कल रात सूचना मिली कि मधेपुरा के रहने वाली काजल नाम की लड़की हाजीपुर के एक निजी हर्ष आनंद हॉस्पिटल अपने परिजन के साथ इलाज करवाने के लिए पहुंची थी। यहां अस्पताल के द्वारा एंट्री फीस 15000 रुपये और इलाज का चार्ज सब कुछ जमा करवा लिया गया था। इसके बाद डॉक्टरों ने इलाज किया और 20 से 25 जांच करवाने को बोला गया। काजल सिर्फ घर की सीढ़ी से गिर गई थी। इसके बाद इलाज कराने के लिए अस्पताल पहुंची थी।

सभी जांच वैसे जगह पर भेजा गया, जहां अस्पताल और जांच घर का एक साथ टाईअप था और जांच का लंबा-चौड़ा बिल मरीज के हाथों में थमा दिया गया। मरीज के परिजन अस्पताल के फीस और जांच का बिल देख घबरा गये और पूरा पैसा देने में असमर्थ रहे। पूरा पैसा जमा न करने को लेकर अस्पताल के द्वारा मरीज और परिजनों को रोक लिया गया और बोला गया कि जब तक पैसा जमा न करेंगे तब तक आप लोगों को जाना नहीं होगा आप पैसा मंगवा कर जमा करें। मधेपुरा की रहने वाली लड़की हाजीपुर शहर में किराए के मकान में अपने परिवार के साथ रहती थी।

निजी अस्पताल द्वारा मनमाने तरीके से पैसा मांगने और डराने-धमकाने के बाद काजल के परिवार ने सीधे पप्पू यादव को फोन लगाकर इसकी शिकायत की। इसके बाद पप्पू यादव सीधे रात के अंधेरे में हाजीपुर में स्थित सरकारी डॉक्टर हरिप्रसाद के निजी अस्पताल पहुंच गए और डॉक्टर को जमकर डांट फटकार लगाया। पप्पू यादव के आने के बाद काजल का कल्याण हुआ। इसके बाद अस्पताल द्वारा मरीज और पेशेंट को घर भेज दिया गया।

पप्पू यादव को निजी अस्पताल के डॉक्टर द्वारा मनमानी की सूचना मिलने के बाद पप्पू यादव डॉक्टर के बारे में पूरा जीवनी को निकालकर मीडिया के सामने रख दिया , पप्पू यादव ने गंभीर आरोप लगाते हुए कहा कि यह क्लीनिक सरकारी अस्पताल में तैनात डॉक्टर हरिप्रसाद का है, जो सरकारी अस्पताल से मरीज को बुलाकर यहां निजी अस्पताल में इलाज करते हैं और मनमाना तरीका से पैसा उगाही करते हैं। इतना ही नहीं पप्पू यादव ने यह भी कहा कि डॉक्टर साहब अपना कर्तव्य छोड़कर हाजीपुर में जमीन का कारोबार कर रहे हैं और अस्पताल में लठमार को रखकर अपना प्राइवेट अस्पताल चला रहे।

उन्होंने कहा कि भले ही डॉक्टर साहब बड़े नेता और विधायक के संरक्षण में ये काम कर रहे हैं, लेकिन जब पप्पू यादव 400 गाड़ी वाले काफिले के साथ पहुंच जायेंगे तो कोई कानून नहीं बचेगा। इसके बाद समझ लीजिएगा कि क्या होगा। सरकारी अस्पताल में तैनात डॉक्टर का निजी अस्पताल में मनमानी तरीके से पैसा लेकर जिले के एसपी और सिविल सर्जन से पप्पू यादव ने शिकायत की है और कहा है कि जांच कर इन डॉक्टरों पर कार्रवाई होनी चाहिए।

हालांकि इस मामले में सरकारी अस्पताल से मरीज को निजी अस्पताल में ले जाकर इलाज करने को लेकर अस्पताल के उपाधीक्षक शैलेंद्र कुमार वर्मा ने कहा कि ऐसी कोई शिकायत नहीं मिली है, जो सरकारी अस्पताल के डॉक्टर हैं और अपने यहां मरीज ले जाकर इलाज करते हैं। सरकारी अस्पताल में सभी प्रकार के इलाज उपलब्ध है और दलालों से सावधान रहने के लिए पोस्टर चिपका दी गयी है। इस तरह की कोई शिकायत हमें अभी तक नहीं मिली है।

हाजीपुर में सरकारी डॉक्टर ने अपने नर्सिंग होम में मामूली बिमारी के लिए करवाया 20 से ज्यादा मेडिकल टेस्ट, फिर बड़ी रकम देने के लिए बनाया दबाव, मौके पर पहुंचे पप्पू यादव ने जमकर लगायी फटकार

Find Us on Facebook

Trending News