मोतिहारी में बालू माफियाओं पर खनन विभाग व पुलिस मेहरबान, बिना नबंर के जब्त ट्रैक्टर को डीटीओ की जांच के बिना ही छोड़ दिया गया

मोतिहारी में बालू माफियाओं पर खनन विभाग व पुलिस मेहरबान, बिना नबंर के जब्त ट्रैक्टर को डीटीओ की जांच के बिना ही छोड़ दिया गया

मोतिहारी. सरकार बालू की अवैध धंधा रोकने के लिए प्रयास कर रही है, लेकिन सुशासन के पदाधिकारी की मिलीभगत से अबैध बालू खनन खुलेआम हो रहा है। सरकार लगतर अवैध बालू खनन से मालामाल हुए पदाधिकारियों पर कार्रवाई कर रही है। इसके बाद भी अधिकारियों में भय नहीं है। मोतिहारी में खनन विभाग व थाना पुलिस बालू माफियाओं पर दिल से मेहरबान है। अवैध खनन में बिना नम्बर के पकड़े गये ट्रैक्टर ट्रेलर को बिना डीटीओ के जांच प्रतिवेदन को ही छोड़ दिया गया।

क्षेत्र में चर्चा का विषय बना हुआ है कि बालू के अवैध खनन में पकड़ाए बिना नम्बर के ट्रैक्टर ट्रेलर को जब्त कर सिर्फ खाना पूर्ति के लिए दंड देकर छोड़ दिया गया है। कही न कही खनन विभाग व थाना पुलिस की मेहवानी तो जरूर है। तभी तो डीटीओ कार्यालय के अनुसार अबैध बालू खनन में ट्रैक्टर थाना में जप्त है, लेकिन खनन विभाग व पुलिस की मेहवानी से ट्रैक्टर व ट्रेलर थाना से दो दिन पहले मुक्त हो चुका है। मामला मोतिहारी जिला के संग्रामपुर का बताया जा रहा है।


मोतिहारी जिला के संग्रामपुर थाना क्षेत्र के गंडक नदी के इजारा, मंगलापुर, भगवानीपुर सहित आधा दर्जन घाटों पर खुलेआम अवैध बालू खनन की खबर चलने पर डीएम शीर्षत कपिल अशोक ने संज्ञान लेते हुए 5 सदस्यीय टीम बनाकर संग्रामपुर थाना क्षेत्र में सोमवार की अहले सुबह छापेमारी करायी। खनन पदादिकारी के नेतृत्व में अरेराज एएसपी, एसडीओ, सर्किल इंस्पेक्टर, संग्रामपुर सीओ व थाना पुलिस द्वारा छापेमारी की गयी। छापेमारी में 5 ट्रैक्टर ट्रेलर पर लदे अवैध बालू को पकड़ कर जप्त किया गया।

सूत्रों के अनुसार पकडे़ गये ट्रैक्टर ट्रेलर पर नम्बर अंकित नहीं था। गाड़ी को स्थानीय थाना में जप्त कर रखवायी गयी। जप्ती के बाद खनन विभाग व थाना की इतनी मेहवानी हुई कि बिना नम्बर के ट्रैक्टर व ट्रेलर को बिना डीटीओ से सत्यापित कराए ही अवैध बालू खनन का फाइन कर छोड़ दिया गया। जिला खनन पदाधिकारी राहुल कुमार ने बताया कि जप्त ट्रैक्टर का अवैध बालू खनन को लेकर 30 से 35 हजार का फाइन कर थाना को छोड़ने के लिए भेज दिया गया। वहीं डीटीओ कार्यालय को गाड़ी जप्ती की सूचना दी गई थी। वहीं बिना डीटीओ कार्यालय के सत्यापन के ही थाना पुलिस द्वारा जप्त ट्रैक्टर ट्रेलर को मुक्त कर दिया गया।

खनन विभाग व थाना पुलिस बालू माफियाओ पर मेहरबान डीएम के निर्देश पर गठित टीम सोमवार को संग्रामपुर थाना क्षेत्र में अवैध बालू खनन मामले में बालू लोड 5 ट्रैक्टर ट्रेलर जप्त किया। जप्त ट्रैक्टर को स्थानीय थाना में लगाया गया। पुलिस सूत्रों व वायरल वीडियो के अनुसार अधिकांश ट्रैक्टर पर नम्बर अंकित नहीं था, लेकिन खनन विभाग ने बालू माफियाओ के मिलीभगत से ट्रेक्टर टेलर का बिना डीटीओ कार्यालय के सत्यापन कराए ही छोड़ने के निर्देश जारी कर दिया है। खनन विभाग प्रति ट्रैक्टर 30 से 35 हज़ार अबैध बालू खनन का फाइन कर ट्रैक्टर छोड़ने का आदेश दे दिया । वहीं थाना पुलिस ने बिना डीटीओ से सत्यापन के ही खनन विभाग के आदेश पर ट्रैक्टर को मुक्त कर दिया गया।

इस संबंध में डीटीओ अनुराग कौशल ने बताया कि संग्रामपुर थाना क्षेत्र से अवैध बालू खनन में जप्त 5 ट्रेक्टर का सीजर मेरे कार्यालय में है। मेरे कार्यालय से ट्रैक्टर को मुक्त करने का कोई आदेश नहीं दिया गया है। थाना पुलिस कैसे गाड़ी छोड़ दिया है यह तो जांच का विषय है। वहीं संग्रामपुर थाना अध्यक्ष राजीव नयन प्रसाद ने बताया कि खनन विभाग के आदेश पर ट्रैक्टर छोड़ दिया गया है। ट्रैक्टर मालिक से सम्पर्क कर फिर से जप्त करने का प्रयास किया जा रहा है। वहीं क्षेत्र में चर्चा का विषय बना हुआ है कि आखिर खनन विभाग व थाना पुलिस की मिलीभगत नहीं है तो इतने बड़े पैमाने पर दिनभर बालू का अवैध खनन कैसे होता है। संग्रामपुर थाना क्षेत्र के 5 घाटों से प्रशासन के चढ़वा के नाम पर प्रति माह दो से ढाई लाख की वसूली होती है। वहीं धड़ले से अबैध बालू का खनन किया जाता है।

Find Us on Facebook

Trending News