सुपौल में दरिंदों ने नाबालिग की दुष्कर्म के बाद की हत्या, परिजनों ने न्याय की लगायी गुहार

सुपौल में दरिंदों ने नाबालिग की दुष्कर्म के बाद की हत्या, परिजनों ने न्याय की लगायी गुहार

SUPAUL : एक तरफ बेटी बचाओ और बेटी पढ़ाओ नारा बिहार के मुखिया नीतीश कुमार लेकर घूम रहे हैं। लेकिन बिहार में कितनी बेटी सुरक्षित है। इसका अंदाजा मधेपुरा की घटना से लगाया जा सकता है। मामला मधेपुरा जिला के पुरैनी थाना क्षेत्र की है, जहां एक चार साल की मासूम बच्ची को दुष्कर्म कर उसे जान से मार दिया गया। इसके बाद मृतक मासूम बच्ची के पिता न्याय के लिए दर-दर भटक रहे हैं। मृतक बच्ची के पिता ने थाने में आवेदन देकर बताया कि मेरी चार साल की मासूम बच्ची घर के आगे बच्चों के साथ खेल रही थी। 

उसी दौरान कुछ लोग बाइक पर सवार होकर आये और मेरे मासूम बच्ची को उठा ले गए। काफी देर होने के बाद हम और हमारे पूरे परिवार मिलकर खोजबीन करने लगे। उसी क्रम में हमने चिमनी भट्ठा के पास खून देखा। कुछ दूर और आगे गए तो मोटरसाइकिल जमीन पर गिरा हुआ था। इस बात की जानकारी देने हम और हमारे साथ कुछ ग्रामीण मिलकर उस मोटरसाइकिल मालिक के यहां पहुंचे। वहां इस घटना के बारे में  जानकारी दिया। जिसके बाद वे लोग हम ही को गाली गलौज एवं जान से मारने की धमकी देने लगे। वहीँ पोखर सामने मेरी बच्ची बेहोशी हालत में पड़ी थी। 

ग्रामीणों के सहयोग से हम अपने बच्ची को इलाज के लिए पुरैनी अस्पताल लाये। जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। इसके बाद हमने 2 लोगों के खिलाफ थाने में लिखित आवेदन  देकर न्याय की गुहार लगाई है। हद तो इस बात की है की घटना को करीब 72 घंटा बीत गए। लेकिन पुरैनी पुलिस अब तक उन दरिंदों को गिरफ्तार नहीं कर पाई है। हालांकि पुलिस ने केस दर्ज कर ली है। पुरैनी पुलिस का कहना है, कांड संख्या202/2021 दर्ज कर ली है। बहुत जल्द बदमाशों को गिरफ्तार कर लिया जायेगा। 


सुपौल से पप्पू आलम की रिपोर्ट 

Find Us on Facebook

Trending News