युवक की मौत के मामले में सेना के 6 जवानों के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज, परिजनों में भारी आक्रोश

युवक की मौत के मामले में सेना के 6 जवानों के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज, परिजनों में भारी आक्रोश

DESK. राजस्थान में कथित रूप से सैनिकों द्वारा पीटे जाने के कारण घायल हुए युवक की मौत हो के बाद सेना के 6 जवानों के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज किया गया है। इस युवक को गंभीर हालत में अस्‍पताल में भर्ती करवाया गया था, जहां सोमवार को उसकी मौत हो गई। युवक के परिवार ने आरोप लगाया कि मवेशियों की तलाश में पोकरण फील्ड फायरिंग रेंज में गए युवक को सैनिकों ने बुरी तरह से पीटा था। 

हालांकि सेना के अधिकारियों ने आरोपों से इनकार किया और कहा कि जवानों ने युवक को घायल अवस्था में पड़े देखा, जिसके बाद उसे अस्‍पताल में भर्ती कराया गया। लाठी पुलिस थाना प्रभारी अशोक कुमार ने मंगलवार को बताया कि सलमान (24) अपने दोस्त के साथ मोटरसाइकिल से पोकरण स्थित फायरिंग रेंज गया था और चूंकि यह प्रतिबंधित क्षेत्र है, इसलिए सेना के गश्ती वाहन दिखाई देने पर उन्होंने अपनी मोटरसाइकिल वहां से भागने के लिए रेत के टीलों की ओर मोड़ दी। 

उन्‍होंने कहा, ‘उसके परिवार ने कहा कि बाइक टीलों में फंस गई। परिवार के अनुसार, युवक का दोस्त वहां से भागने में कामयाब रहा, लेकिन जवानों ने सलमान को पकड़ लिया।' कुमार ने कहा, ‘परिवार ने आरोप लगाया कि जवानों ने सलमान को बुरी तरह पीटा और बाद में उसे गंभीर हालत में स्थानीय अस्पताल ले जाया गया।' सलमान ने बाद में अस्पताल में दम तोड़ दिया। उसके परिवार के सदस्यों और रिश्तेदारों ने पोकरण उपखंड अधिकारी कार्यालय के सामने शव रखकर धरना शुरू कर दिया। उन्‍होंने आरोपी सैनिकों की गिरफ्तारी, 50 लाख रुपये का मुआवजा दिए जाने और पीड़ित के परिवार के एक सदस्य को सरकारी नौकरी दिए जाने की मांग की। कुमार ने कहा, ‘‘जवानों का कहना है कि उन्होंने युवक को वहां घायल अवस्था में पड़े देखा और वे उसे अस्पताल ले गए। उन्होंने युवक को पीटने से इनकार किया।' 


उन्‍होंने कहा, ‘‘बीती रात सेना के छह जवानों के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज होने के बाद, परिवार के सदस्य शव का पोस्टमार्टम कराने के लिए राजी हो गए। रात में पोस्टमार्टम कराने के बाद शव परिजन को सौंप दिया गया, लेकिन वे गिरफ्तारी की मांग को लेकर अब भी धरने पर बैठे हैं।' जैसलमेर की जिलाधिकारी टीना डाबी ने बताया कि परिजनों को समझाने का प्रयास किया जा रहा है।

वहीं सैन्‍य प्रवक्ता लेफ्टिनेंट कर्नल अमिताभ शर्मा ने कहा कि युवक घायल अवस्था में पड़ा मिला था जिसे सेना के गश्ती दल ने तुरंत नजदीकी सरकारी अस्पताल लाठी में पहुंचाया, जहां बाद में उसने दम तोड़ दिया। उन्होंने कहा, ‘सेना और पुलिस दोनों संयुक्त रूप से मामले की जांच कर रहे हैं।' उल्लेखनीय है कि भारत-पाकिस्तान सीमा के करीब स्थित जैसलमेर में पोकरण फील्ड फायरिंग रेंज का इस्तेमाल सशस्त्र बलों द्वारा गोलीबारी के अभ्‍यास के लिए किया जाता है और सुरक्षा की दृष्टि से सेना के जवानों द्वारा नियमित रूप से यहां गश्त की जाती है।


Find Us on Facebook

Trending News