यूपी चुनाव को देखते हुए सीएम योगी ने किया मंत्रिमंडल का विस्तार, ब्राह्मण से आने वाले जितिन प्रसाद को बनाए कैबिनेट मंत्री, तो ओबीसी और एससी-एसटी का भी रखा ध्यान

यूपी चुनाव को देखते हुए सीएम योगी ने किया मंत्रिमंडल का विस्तार, ब्राह्मण से आने वाले जितिन प्रसाद को बनाए कैबिनेट मंत्री, तो ओबीसी और एससी-एसटी का भी रखा ध्यान

लखनऊ. उत्तर प्रदेश की सियासत से जुड़ी बड़ी खबर है. योगी सरकार ने मंत्रीमंडल का विस्तार किया है. इसमें सात नए मंत्री शपथ ले रहे हैं. इसमें कांग्रेस छोड़कर बीजेपी में शामिल हुए जितिन प्रसाद कैबिनेट मंत्री बनाये गयै है और 6 अन्य मंत्री बनाये गये हैं. योगी सरकार ने अगामी यूपी विधानसभा चुनाव को ध्यान में रखते हुए मंत्रीमंडल का विस्तार किया है. इसमें सीएम योगी ने ब्राह्मण, ओबीसी और एससी/ एसटी जाति से आने वाले विधायक को मंत्रिमडल में स्थान दिया है.

इस नए मंत्रिमंडल में यूपी के बड़े ब्राह्मण चेहरा माने जाने वाले जितिन प्रसाद को कैबिनेट मंत्री बनया गये हैं. मल्लाह ओबीसी जाती से संगीता बलवंत, कम्हार ओबीसी से धर्मवीर प्रजापति, अनुसूचित जाति से पलटूराम, कुर्मी ओबीसी से छत्रपाल गंगवार, दलित से दिनेश खटिक और अनुसूचित जनजाति से संजय गौड़ ने मंत्री पद की शपथ ली है.

यूपी मंत्रिमंडल विस्तार में शपथ लिये मंत्री

1) जितिन प्रसाद (शहाजहांपुर) - (ब्राह्मण - सवर्ण)

2) संगीता बलवंत बिंद (ग़ाज़ीपुर) - (मल्लाह ओबीसी)

3) धर्मवीर प्रजापति (आगरा) - (कुम्हार - ओबीसी) 

4) पलटूराम (बलरामपुर) - (अनुसूचित जाति) 

5) छत्रपाल गंगवार (बरेली) - (कुर्मी - ओबीसी

6) दिनेश खटिक (मेरठ) - (दलित - एससी)

7) संजय गौड़ (सोनभद्र) - (अनुसूचित जनजाति - एसटी

संगीता बलवंत बिंद ओबीसी समुदाय से आते हैं और पूर्वांचल का चेहरा है. वे कई किताबों की लेखिका भी है. गाजीपुर सदर से विधायक है. वे 2014 बीजेपी में शामिल हुई थी. वे पिछड़ी जाति समाज से आती हैं. वे छात्र जीवन से राजनीति में सक्रिय है.

संजीव कुमार गोंड 2017 में पहली बार विधायक बने. सोनभद्र, मिर्जापुर, चंदौली में उनकी अच्छी पकड़ है. वे अनुसूचित जनजाति से आते हैं. ओबरा विधानसभा सीट से विधायक हैं. गोंड समाज के बड़े नेताओं में शुमार है. छत्रपाल गंगवार कुर्मी का बड़ा चेहरा है. बहेड़ी सीट से विधायक है. 1980 से RSS से जुड़े हुए हैं. वहीं पलटू राम बलरामपुर सदर से विधायक है.

वहीं दिनेश खटीक 2017 हस्तिनापुर से बीजेपी के विधायक है. वे बीएसपी प्रत्याशी योगेश वर्मा को हराया था. पूरा परिवार संघ का पुराना कार्यकर्ता है. विकास कार्यों की वजह से वे मशहूर है. ईंट भट्ठे का व्यवसाय भी करते हैं. धर्मवीर प्रजापति यूपी माटी कला बोर्ड के अध्यक्ष है. आर एस एस के स्वयंसेवक भी है. दो बार बीजेपी संगठन मंत्री भी रह चुके हैं. धर्मवीर प्रजापति भी मंत्री पद की शपथ लिए हैं.   


Find Us on Facebook

Trending News