सूचना सचिव अनुपम कुमार की प्रेस कांफ्रेंस, कोरोना काल में किये जा रहे कार्यों की दी जानकारी

सूचना सचिव अनुपम कुमार की प्रेस कांफ्रेंस, कोरोना काल में किये जा रहे कार्यों की दी जानकारी

PATNA : पटना में गुरुवार को वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से सूचना जन-सम्पर्क विभाग के सचिव अनुपम कुमार, स्वास्थ्य विभाग के सचिव लोकेश कुमार सिंह एवं पुलिस मुख्यालय से ए.डी.जी जितेन्द्र कुमार ने मीडियाकर्मियों को कोरोना संक्रमण और लॉकडाउन से उत्पन्न हालात के बाद सरकार द्वारा किए जा रहे कार्यों की जानकारी दी. 

सूचना सचिव अनुपम कुमार ने कहा कि कोरोना संक्रमण की स्थिति पर लगातार कार्रवाई की जा रही है. हाल के दिनों में बड़ी तादात में प्रवासी श्रमिक बिहार आ रहे हैं, उम्मीद है कि जल्द ही सभी इच्छुक प्रवासी श्रमिकों को वापस ले आया जाएगा. बड़ी संख्या में वापस लौटे श्रमिकों का क्वारंटाईन पीरियड खत्म होने के बाद डिस्चार्ज किया गया है. सूचना सचिव ने बताया कि 13 हजार 6 सौ 84 ब्लाक क्वारंटाईन सेंटर में कुल 12 लाख 38 हजार 41 लोग आवासित रहे, जिनमें से 5 लाख 79 हजार 9 सौ 8 श्रमिकों के क्वारंटाईन पीरियड पूरा होने के बाद डिस्चार्ज किया जा चुका है, अभी फिलहाल 6 लाख 58 हजार 1 सौ 33 लोग ब्लाक क्वारंटाईन सेंटर में आवासित हैं. सरकार की सभी लोगों से अपील है कि वे मास्क पहनें, घबराएं नहीं, सतर्क और सचेत रहें. जो भी लोग कोरोना से स्वस्थ होकर अस्पताल से घर या वैसे लोग जो क्वारंटाईन केन्द्र से क्वारंटाईन की समय सीमा पूरा कर अपने घर जा रहे हैं, उनके साथ लोग सकारात्मक रवैया अपनाएं. बिहार में फिलहाल 84 आपदा राहत केन्द्र चलाए जा रहे हैं जिसका लाभ 18 हजार 5 सौ लोग उठा रहे हैं. 

अनुपम कुमार ने कहा कि रोजगार सृजन सरकार की प्राथमिकता में ऊपर है. सरकार इस दिशा में लगातार कार्य कर रही है. लॉकडाउन के समय अब तक 3 करोड़ 74 लाख मानव दिवस सृजित किए जा चुके हैं. अब तक 1 करोड़ 41 लाख राशनकार्डधारी परिवारों के खाते में 1000 रुपये की राशि भेज दी गई है. जिनके पास राशनकार्ड नहीं है, आवेदन के बाद जिनका सर्वे भी किया जा चुका है, वैसे 11 लाख 23 हजार परिवारों के नए राशनकार्ड बनाए जा चुके हैं. आज 73 ट्रेनों से 1 लाख 2 हजार 9 सौ   प्रवासी वापस बिहार आ रहे हैं. कल यानी शुक्रवार को 46 ट्रेनों से 42 हजार 9 सौ प्रवासियों का वापस आना संभावित है. 

वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए जानकारी देते हुए एडीजी पुलिस मुख्यालय जितेन्द्र कुमार ने कहा कि लॉकडाउन के उल्लंघन को लेकर पिछले 24 घंटे में अब तक 11 एफआरआई दर्ज किए गए हैं, 12 गिरफ्तारियां हुई हैं और 896 वाहन जब्त किए गए है.  

वीडियो कांफ्रेंसिंग में जानकारी देते हुए स्वास्थ्य विभाग के सचिव लोकेश कुमार सिंह ने कहा कि बिहार में कोरोना पाजिटिव केस का आंकड़ा 3106 हो गया है. बिहार में अब तक कोरोना संक्रमण के 70275 जाँच किए जा चुके हैं, कुल जाँच के 4.4 फीसदी लोग कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं. स्वास्थ्य सचिव ने बताया कि हाल के दिनों में बड़ी संख्या में प्रवासी वापस आ रहे हैं जिनकी जांच को प्राथमिकता दी जा रही है जिससे कोरोना पॉजिटिव का प्रतिशत बढ़ा है. 3 मई के बाद आने वाले प्रवासियों में से 2168 प्रवासी कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं. कोरोना से पिछले 24 घंटे में 132 लोग ठीक हुए हैं, कोरोना से अब तक कुल 1050 लोग स्वस्थ्य होकर घर जा चुके हैं. 


Find Us on Facebook

Trending News