दरभंगा में दिलचस्प हुआ मेयर पद का मुकाबला, महिला आरक्षित सीट पर त्रिकोणीय मुकाबला, सभी कर रहे अपनी जीत के दावे

दरभंगा में दिलचस्प हुआ मेयर पद का मुकाबला, महिला आरक्षित सीट पर त्रिकोणीय मुकाबला, सभी कर रहे अपनी जीत के दावे

DARBHANGA : दरभंगा नगर निगम चुनाव में महापौर का ताज किसके सिर सजेगा, इसका फैसला 22 अक्टूबर को होगा । वैसे यह सीट महिलाओं के लिए आरक्षित है. जहां कड़ा मुकाबले देखने को मिलेंगे. वहीं अहलें सुबह से देर रात तक शहर के चौक चौराहे का भी विलय फिलहाल नगर निगम चुनाव में ही हो गया वैसे भी पर्व त्यौहार के मौसम में लोकतंत्र जैसे पर्व साथ मिल जाय तो मनोरंजन में चारचांद लग जाता है और शहरों में लोगों की दिलचस्पी से साफ झलकता भी है  वैसे महापौर की कुर्सी के लिए त्रिकोणीय मुकाबला अभी तक के जनता के रूझानों से लग रहा है. जिसमें राजद महानगर के अध्यक्ष राकेश नायक की पत्नी निर्माता नायक मुहर्रम कमिटी के अध्यक्ष सिबगतुल्लाह उर्फ डब्बू खान की पत्नी एंव वार्ड 24 की पूर्व पार्षद अंजुम आरा एंव सामाजिक कार्यों में बढ़चढ़ कर हिस्सा लेने वालें नवीन सिन्हा की पत्नी वार्ड पार्षद मधुबाला सिन्हा में मुकाबला देखने को मिल रहा है।

जनता किस आधार पर कर रही है इन चेहरों पर भरोसा

निर्माता नायक राजद के महानगर अध्यक्ष राकेश नायक की पत्नी हैं वैश्य समाज से आतें है. शिक्षित है इतिहास से स्नातक की हुई है.मिथिला पेंटिंग में तीन वर्षये शिक्षा से दक्ष और संगीत से भी स्नातक हैं।वहीं निर्माण (NGO) जैसी समाज सेवी संस्था के द्वारा नारी के उत्थान कैसे हो उसके लिए दिनरात  सदैव लगी रहती है। और इसकी संस्थापक भी है. इधर अपना शहर विकसित कैसे बनें इसके लिए भी एक रोडमैप तैयार की हुई है और उसको धरातल पर उतारने के लिए उत्सुक है वहीं सबसे बड़ी बात युवा है और हर समय कुछ नया करने की ललक है। वैसे इनके पति का बचपन से ही राजनीतिक एंव सामाजिक कार्यों में अपना जीवन दरभंगा के जनमानस को समर्पित कर दियें हुयें है सरल स्वाभाव के धनी राकेश के शहर के सभी वर्गों के मतदाताओं पर अच्छी खासी पकड़ है और इसका फायदा मिलता दिख रहा है।

कोरोना काल में किए कार्य का मिलेगा फायदा

मधुबाला सिन्हा वार्ड 21 के वर्तमान पार्षद है और निगर निगम के 48 वार्डों के सबसे विकसित वार्ड माना जाता है जिसका सीधा श्रेय लोग इहें देंते है हांलाकि ये कायस्थ समाज से ताल्लुक रखतें हैं। वहीं इनके पति नवीन सिन्हा लगातार समाजिक कार्यों से जुड़े हुए रहते हैं। कोविड का वह बुरा दौर हो जब अपने लाश को छोड़कर भाग जातें थे उस समय दरभंगा के हनुमान के रूप में प्रकट हुए थे।

कुल मिलाकर अभी तक के आकड़ों से निर्माता नायक और मधुबाला सिन्हा  के बीच मुकाबले दिख रहा है। लेकिन इसके बाद भी अंजुम आरा की बात महापौर की घोषणा ने  इस चुनाव को त्रिकोणीय मुकाबला बना दिया है। हालांकि, अल्पसंख्यक समाज से अभी तक एक ही दावेदारी के कारण  दोनों उम्मीदवारों के लिए खतरें की घंटी बन सकती हैं। हालंकि अभी भी बुद्धिजिवी एंव महिला वोटर साइलेंट है इससे यह अनुमान लगा सकतें है महिला वोटर इस चुनाव में जिस तरफ जायेंगी ताजपोशी उनकें ही सिर सजेंगी।

वैसे भाजपा समर्थित उम्मीदवार का आना बाकी है अभी उम्मीदवार स्थानीय सांसद एंव विधायक के हरी झंडी का इंतजार कर रहें हैं । हालंकि यह अभी शुरुआती आकलन है।  वैसें द्वितीय चरण का मतदान 20 अक्टूबर 2022 को पूर्वाह्न 07ः00 बजे से अपराह्न 05ः00 बजे तक निर्धारित है एवं 22 अक्टूबर 2022 को मतगणना करायी जाएगी।

नगर निगम, दरभंगा के 48 वार्डों के लिए 266 मतदान केन्द्र बनाये गए हैं, जहाँ 2 लाख 39 हजार 191 मतदाता द्वारा अपने मताधिकार का प्रयोग किया जाएगा, जिनमें 1 लाख 25 हजार 640 पुरूष मतदाता, 1 लाख 13 हजार 545 महिला मतदाता एवं 06 अन्य मतदाता शामिल हैं।

Find Us on Facebook

Trending News