बीजेपी के पूर्व MLA के बेटे पर जेल में बन्द कुख्यात सोना लुटेरे ने चलती ट्रेन में चलवाई गोली,गार्ड हुआ घायल

बीजेपी के पूर्व MLA के बेटे पर जेल में बन्द कुख्यात सोना लुटेरे ने चलती ट्रेन में चलवाई गोली,गार्ड हुआ घायल

मोकामा। बीती रात उपासना एक्सप्रेस में हुए हमले की सच्चाई सामने आ गई है। हमले में जिस बंदी को निशाना बनाने की कोशिश की गई, उसका दावा है कि इसकी साजिश बेउर जेल में रची गई है। उसने बताया कि वहां बंद सुबोध सिंह ने मुझसे रंगदारी की मांग की थी, पैसे नहीं देने पर जान से मारने की धमकी दी थी। बंदी के दावे के बाद पुलिस के सामने कई सवाल खड़े हो गए हैं। 

इस हमले का केंद्र रहे कुणाल शर्मा ने बताया कि  साइबर क्राइम में बेउर जेल में बंद था। मोकामा में ट्रेन रुकी कुछ लोग आकर फायरिंग करने लगे मेरे ऊपर। उसने बताया फायरिंग करने का रीजन मुझे पता है, जब जेल से निकल रहा था तो मुझे सुबोध सिंह नाम के कैदी ने जान से मरवाने की धमकी दी थी, वह सोना लूट कांड में जेल में बंद है। उसे पता चला कि मेरे पिता विधायक हैं तो मुझसे रंगदारी मांग रहा था और उसी ने कहा था कि तुझे रास्ते में ही मरवा देंगे। कुणाल शर्मा ने दावा किया कि मेरे पिता राजस्थान के दौसा से पूर्व बीजेपी विधायक संजीव शर्मा है। मैं साइबर क्राइम में जेल में  8 महीने से 28 जुलाई 2020  से अंदर हूं मुझे सियालदह कोर्ट ले जाया जा रहा था। हालांकि पिता के पूर्व विधायक होने की पुष्टि कुणाल के अलावा और किसी ने नहीं की है।

कई सवाल हैं सामने

जिस तरह मोकामा स्टेशन पर अपराधियों ने हमला किया, वह किसी बड़ी साजिश का हिस्सा प्रतित होता है। बेउर जेल में बंद होने के बाद भी अगर कोई बंदी मोकामा में ट्रेन में पर हमले की योजना बना सकता है, तो जाहिर है कि उसके अपराधिक लिंक कहां तक होंगे। साथ ही बंदी को किस ट्रेन से ले जाया जा रहा है, इस बात की जानकारी भी अपराधियों को होती है, जो कहीं न कहीं बता रही है इसमें पुलिस महकमे से जानकारी लीक की गई है।


बता दें कि बीती रात  मोकामा स्टेशन पर अपराधियों का तांडव देखने को मिला है. जहां डाउन लाइन से गुजरने वाली उपासना एक्सप्रेस में गोलीबारी की घटना को अंजाम दिया गया है. मिली जानकारी के अनुसार उपासना एक्सप्रेस ट्रेन से एक अपराधी को सियालदह ले जाया जा रहा था. इसी बीच घात लगाए अपराधियों ने कुणाल शर्मा गोली चला दी. हालांकि गोली अपराधी कुणाल शर्मा को नहीं लगी. बल्कि ट्रेन में यात्रा कर रहे गार्ड नवल किशोर को गोली लग गई. गार्ड नवल किशोर अपना ड्यूटी खत्म कर ट्रेन में जा रहे थे. गोलीबारी की सूचना पर रेल महकमे में हड़कंप मच गया. घायल गार्ड को क्यूल रेलवे स्टेशन पर उतारा गया. जहां गार्ड की स्थिति फिलहाल ठीक बताई जा रही है. 

मिली जानकारी के अनुसार ट्रेन जैसे ही मोकामा से खुली तो सबसे पीछे वाले बोगी में अपराधी कुणाल शर्मा को ले जाया जा रहा था. तीन राउंड गोली चलने के बाद अपराधी मोकामा में ही उतर कर फरार हो गए.  फिलहाल मोकामा आरपीएफ और जीआरपी के पुलिस पूरे मामले की गंभीरता से जांच में जुट गई है. वहीं घटना की सूचना मिलने के बाद बाढ़ के एसपी अमृत राहुल मोकामा स्टेशन पहुंचे और मामले की जानकारी ली. बाढ़ के एसपी अमरेश राहुल के साथ मोकामा इंस्पेक्टर राजनदन, आरपीएफ के अरविंद राम, मोकामा जीआरपी इंस्पेक्टर सहित कई अन्य अधिकारी घटनास्थल पर जायजा लेते दिखे.



Find Us on Facebook

Trending News