जलजनित बीमारियों से लड़ने को तैयार स्वास्थ्य विभाग : मंगल पांडेय

जलजनित बीमारियों से लड़ने को तैयार स्वास्थ्य विभाग : मंगल पांडेय

PATNA : स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय ने कहा है कि स्वास्थ्य विभाग एक साथ कई मोर्चों पर काम कर रहा है। कोरोना को काबू करने के साथ-साथ ब्लैक फंगस और चमकी बुखार से निपटने के लिए जहां विभाग लगातार जुटा हुआ है, वहीं बरसात से उत्पन्न जलजनित बीमारियों जैसे डायरिया, कालाजार, सर्दी जुकाम, फ्लू, टाइफाइड, मलेरिया एव डेंगू को लेकर भी स्वास्थ्य विभाग योजनाबद्ध तरीके से काम कर रहा है। इसके लिए राज्य के सभी मेडिकल कॉलेज एवं अस्पतालों के अलावे पीएचसी से लेकर अनुमंडलीय और जिला अस्पतालों में भी समय पूर्व आवश्यक तैयारियां पूरी कर लेने का आदेश निर्गत किया गया है। साथ ही इन अस्पतालों में एंटी फंगल स्कीन क्रीम, एंटी डायरियल आईभी फ्लुड, ब्लीचिंग पाउडर, ओआरएस, हेलोजन टेबलट के अलावे सांप एवं कुत्ता काटने से बचाव का इंजेक्शन का भी इंतजाम करने का निर्देश दिया गया है। 

पांडेय ने कहा कि राज्य सरकार लोगों को बेहतर स्वास्थ्य सेवाएं देने के लिए प्रतिबद्ध है। लोगों के स्वास्थ्य की सुरक्षा सरकार की प्राथमिकता में शामिल है। मौजूदा संकट और भविष्य की चुनौतियों का सामना करने के लिए स्वास्थ्य विभाग कस्बों से लेकर राजधानी तक पुख्ता तैयारी कर रही है। एक ओर जहां आवश्यक संसाधन और उपकरण जुटाये जा रहे हैं, वहीं दूसरी ओर मानव बल में भी बढ़ोतरी की सतत प्रक्रिया जारी है। साथ ही विभाग द्वारा सभी सरकारी मेडिकल कॉलेज सह अस्पतालों को विभाग द्वारा गाइड लाइन भेज कर इस परिपेक्ष्य में तैयारी करने का आदेश मुख्यालय स्तर पर दिया गया गया है, ताकि राज्य के सुदूर क्षेत्रों के लोगों तक को संकट के समय में बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं उपलब्ध हो सके। 

पांडेय ने कहा कि भारत में मानसून ने दस्तक दे दी है। संभावना है कि अगले कुछ दिनों में मानसून बिहार में भी प्रवेश करेगा। इसलिए स्वास्थ्य विभाग ऐसी परिस्थितियों से निपटने के लिए न सिर्फ अलर्ट है, बल्कि अभी से आवश्यक तैयारियां की जा रही हैं। विभाग द्वारा चमकी बुखार, डायरिया एवं हैजा पर प्राथमिक लगाम लगाने के लिए आंगनबाड़ी, आशा कार्यकर्ता को प्रशिक्षण देने के साथ आवश्यक दवाओं की उपलब्घता भी स्वास्थ्य केंद्रों पर करायी जा रही है। राज्य के करीब 10 हजार आंगनबाड़ी केंद्र पर समाज कल्याण विभाग द्वारा उच्च पौष्टिकतायुक्त भोजन जीविका दीदी के माध्यम से वितरित करने की व्यवस्था की जा रही है। राज्य में पंचायत राज विभाग द्वारा एक करोड़ परिवार के बीच 6 करोड़ मास्क का वितरण किया जा चुका है।

पटना से रंजन की रिपोर्ट

Find Us on Facebook

Trending News