जदयू नेता ने की जदयू प्रवक्ता को तत्काल पार्टी से बाहर निकालने की मांग, कहा ब्राह्मणों को अपमानित करने वाली भाषा बोलने वाले स्वीकार नहीं

जदयू नेता ने की जदयू प्रवक्ता को तत्काल पार्टी से बाहर निकालने की मांग, कहा ब्राह्मणों को अपमानित करने वाली भाषा बोलने वाले स्वीकार नहीं

PATNA : देश के एक प्रतिष्ठित राष्ट्रीय चैनल पर ब्राह्मण समाज पर असंवैधानिक एवं अमर्यादित शब्दों का प्रयोग कर जदयू प्रवक्ता अजय आलोक ने ब्राह्मण समाज को शर्मसार करने के उद्देश्य से जाति को अपमानित करने वाले जाति सूचक शब्द से अपमानित किया है जो एक घोर आपराधिक कृत्य है। आश्चर्य तो तब हो रहा है कि इतना सब कुछ होने के बाद भी पार्टी चुप्पी साधे हुई है। शासन प्रशासन ने इस घोर आपराधिक कृत्य के लिए इस व्यक्ति पर अनुशासनात्मक कार्रवाई अब तक नहीं की है। 

जदयू चिकित्सा सेवा प्रकोष्ठ (उत्तरी बिहार) के प्रदेश उपाध्यक्ष डॉ. मधुरेंदु पांडेय ने बताया कि न्यूज़ चैनल के एक कार्यक्रम में जदयू प्रवक्ता अजय आलोक ने महाब्राह्मण जाति को शर्मसार और अपमानित करने के लिए कांग्रेस प्रवक्ता अभय दुबे को बार बार असंवैधानिक भाषा कंटाहा ब्राह्मण होने का प्रयोग किया है, जिससे पूरे हिंदुस्तान में जदयू प्रवक्ता के प्रति घोर आक्रोश व्याप्त है। इसके विरुद्ध हर जगह धरना प्रदर्शन हो रहा है। डॉ. पांडेय ने प्रवक्ता अजय आलोक को सार्वजनिक तौर पर इस समाज से माफी मांगने को कहा है। साथ ही पार्टी सुप्रीमों सह मुख्यमंत्री नीतीश कुमार एवं जदयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष ललन सिंह से ऐसे मनबढू और अयोग्य व्यक्ति को प्रवक्ता के साथ-साथ पार्टी से निकालने की मांग की है। 

डॉ. पांडेय ने कहा कि अजय आलोक के दुष्कृत्य भाषा के प्रयोग से ब्राह्मण समाज जदयू से आहत है। पार्टी इस पर सीधी कार्रवाई करे। ब्राह्मण समाज अपमान सह कर पार्टी से कैसे जुड़ा रहेगा। प्रवक्ता अजय आलोक ने जिस भाषा का प्रयोग ब्राह्मण समाज को अपमानित और शर्मसार करने के लिए किया है, वह पार्टी हित में नहीं है। पांडेय ने कहा कि एक तरफ मुख्यमंत्री नीतीश कुमार वंचितों, शोषितों को सामाजिक मुख्यधारा से जोड़ने का काम करते हैं। वहीँ उनके अयोग्य प्रवक्ता उलूल जुलूल भाषा का प्रयोग कर समाज को तोड़ने का काम करते हैं जो पार्टी हित में नहीं है।

Find Us on Facebook

Trending News