लखीसराय : जिलाधिकारी ने की समीक्षा बैठक, योजनाओं को पूरा करने का दिया निर्देश

लखीसराय : जिलाधिकारी ने की समीक्षा बैठक, योजनाओं को पूरा करने का दिया निर्देश

LAKHISARAI : समाहरणालय के मंत्रणा कक्ष में जिला समन्वय समिति की आयोजित बैठक को संबोधित करते हुए जिला पदाधिकारी संजय कुमार सिंह ने कहा कि सरकार के लक्ष्य के अनुरूप विभिन्न विभागीय योजनाओं में समुचित प्रगति लाई जाए. वर्तमान वित्तीय वर्ष की समाप्ति में काफी कम समय बचा है एवं लक्ष्य के अनुरूप तेजी से प्रगति लाने की आवश्यकता है. उन्होंने समीक्षा के क्रम में कड़े निर्देश देते हुए कहा कि धान अधिप्राप्ति के कार्य में पूरी संवेदनशीलता के साथ लक्ष्य के अनुरूप प्रगति लाने हेतु समयबद्ध तरीके से काम करें. जिले में धान के उत्पादन के आधार पर निर्धारित लक्ष्य के अनुरूप धान की अधिप्राप्ति हेतु किसानों एवं पैक्स के निबंधन के कार्य को अविलंब पूर्ण किया जाए. इसके लिए उन्होंने जिला सहकारिता पदाधिकारी एवं जिला कृषि पदाधिकारी को निर्देश देते हुए कहा कि इन कार्यो  का अपने स्तर पर समुचित अनुश्रवण सुनिश्चित किया जाए. 

जिला कृषि पदाधिकारी को उन्होंने निर्देश देते हुए कहा कि कई किसान जानकारी के अभाव में खेतों में पराली को जला देते हैं, जिससे खेत की उर्वरता प्रभावित होती है. उन्होंने इस बावत जिले के सभी किसानों को जागरूकता के उद्देश्य से माइकिंग करा कर इसके कुप्रभाव के विषय में जानकारी देने को कहा. उन्होंने निर्देश देते हुए कहा कि पराली जलाने वाले किसानों को इस संबंध में सरकार के द्वारा निर्देशित दंड के प्रावधान की भी जानकारी दें. उन्हें यह भी बताएं कि किसान जानबूझकर ऐसा करते पाए जाएंगे,तो उन्हें प्रावधान के अनुसार 3 वर्ष तक सरकारी अनुदान से वंचित करने का प्रावधान निर्धारित है एवं इस दिशा में कड़ी कार्रवाई होगी. मुख्यमंत्री कन्या विवाह योजना की समीक्षा के क्रम में पाया गया कि जिले में लगभग 5000 से अधिक आवेदन की प्रविष्टि पोर्टल पर नहीं हो पाई है, जिससे योजना का समुचित क्रियान्वयन प्रभावी हुआ है. उन्होंने सूर्यगढ़ा, चानन, लखीसराय सहित अन्य संबंधित प्रखंड विकास पदाधिकारी को कड़े निर्देश देते हुए अविलंब ई-सुविधा पोर्टल पर इसकी ईंट्री सुनिश्चित करते हुए प्रगति लाने के कड़े निर्देश दिए. साथ ही, बाल संरक्षण के सहायक निदेशक को समुचित अनुश्रवण के भी निर्देश दिए. 

आंगनवाड़ी केंद्र भवन निर्माण की समीक्षा के क्रम में पाया गया कि जिले में 101 आंगनवाड़ी केंद्रों के भवन निर्माण हेतु जमीन की उपलब्धता की आवश्यकता है, जिसके लिए संबंधित पदाधिकारियों को बाल विकास परियोजना कार्यालय की ओर से अधियाचना भेजी गयी है, परंतु अब तक 12 आंगनबाड़ी केंद्र के भवनों के लिए ही जमीन मुहैया कराई जा गई है. उन्होंने संबंधित अधिकारियों को आंगनवाड़ी केंद्र भवनों के लिए उपयुक्त जमीन तलाश करते हुए संबंधित प्रतिवेदन भेजने के कड़े निर्देश दिए. आज की बैठक में इसके अतिरिक्त सामाजिक सुरक्षा पेंशन, कल्याण, अल्पसंख्यक कल्याण, सहित अन्य प्रखंड स्तर पर क्रियान्वित योजनाओं की समीक्षा की गई एवं आवश्यक निर्देश दिए गए. 

बैठक के दौरान अपर समाहर्ता मोहम्मद इबरार आलम, सिविल सर्जन डॉ० आत्मानंद कुमार, भूमि सुधार उप समाहर्ता संजय कुमार, जिला पंचायती राज पदाधिकारी राजीव, विशेष कार्य पदाधिकारी, जिला प्रोग्राम पदाधिकारी अनुपमा, वरीय उप समाहर्ता प्रेमलता कुमारी, हीना, अपर अनुमंडल पदाधिकारी राकेश कुमार, जिला कृषि पदाधिकारी भरत प्रसाद सिंह, जिला सांख्यिकी पदाधिकारी अजय कुमार, जिला अल्पसंख्यक कल्याण पदाधिकारी शशि भूषण तिवारी सहित अन्य जिला स्तरीय पदाधिकारी, सभी प्रखंड विकास पदाधिकारी, अंचलाधिकारी एवं बाल विकास परियोजना पदाधिकारी सहित अन्य पदाधिकारीगण उपस्थित थे. 

लखीसराय से कमलेश की रिपोर्ट

Find Us on Facebook

Trending News