खास के लिए 'आस' लगाए बैठे हैं 'मांझी'...एक और मंत्री पद नहीं मिला तो क्या हुआ? विप की सीट तो झोली में आएगी ही

खास के लिए 'आस' लगाए बैठे हैं 'मांझी'...एक और मंत्री पद नहीं मिला तो क्या हुआ? विप की सीट तो झोली में आएगी ही

Patna: बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री और हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जीतन राम मांझी अभी भी आस लगाए बैठे हैं। मांझी को लग रहा की अंत -अंत तक विधान परिषद की एक थी उनकी झोली में मिलेगी। MLC सीट को लेकर वे कभी गरम हो रहे तो कभी नरम। उनकी पूरी कोशिश है कि नीतीश कुमार उन्हें विधान परिषद की 1 सीटें दे दें, ताकि उस पर अपने खास रिश्तेदार को माननीय बना सकें।

 आज एक बार फिर से जीतन राम मांझी ने अपनी बात खुलकर रख दिया। उन्होंने कहा कि राज्यपाल के मनोनयन से भरी जाने वाली 1 सीट उन्हें मिलनी चाहिए।पहले एक और मंत्री के साथ-साथ MLC सीट की मांग कर रहे थे। मंत्रिमंडल का विस्तार तो हो गया लेकिन उसमें तो जगह नहीं मिली। लेकिन राज्यपाल कोटे से मनोनयन वाली 1 सीट उन्हें मिलनी चाहिए। जीतन राम मांझी ने कहा कि उन्हें उम्मीद है कि नीतीश कुमार इस पर विचार करेंगे।

दामाद को सेट करना चाहते हैं मांझी

 बता दें, इस बार जीतन राम मांझी ने नीतीश कुमार के साथ मिलकर 7 विधानसभा सीटों पर। उम्मीदवार उतारे थे। इसमें चार विधायक जीत कर आए हैं। इसके एवज में मांझी ने अपने विधान पार्षद बेटे को मंत्री बनवा दिया। बेटे को सेट करने के बाद मांझी की पूरी कोशिश है की विधानसभा चुनाव हार चुके दामाद को सेट किया जाए। इसको लेकर पूरा जोर आजमाइश कर रहे।अब देखना होगा कि मांझी की मांग पर CM नीतीश विचार करते हैं या नहीं।


Find Us on Facebook

Trending News