तेजस्वी की रिमाइंडर वाली बात पर भड़क गए जीतन राम मांझी, कहा - दुनिया को दिखाने के लिए कर रहे हैं ऐसी हरकत

तेजस्वी की रिमाइंडर वाली बात पर भड़क गए जीतन राम मांझी, कहा - दुनिया को दिखाने के लिए कर रहे हैं ऐसी हरकत

PATNA : जातिगत जनगणना को लेकर नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव द्वारा प्रधानमंत्री को रिमांइडर भेजे जाने की बात पर पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी ने कड़ी प्रतिक्रिया दी है। जीतन राम मांझी ने मामले पर तेजस्वी को आड़े हाथ लेते हुए कहा कि वह जातिगत जनगणना को लेकर ठप्पा अपने हाथ में लेने के लिए और दुनिया को दिखाने के लिए कि हम ही सबसे आगे हैं। इसलिए ही यह सब हरकत कर रहे हैं। पूर्व सीएम ने कहा यह महत्वपूर्ण फैसला है, जिसमें जल्दबाजी में फैसला नहीं लिया जा सकता है।

हम पार्टी की तरफ से आयोजित जनता दरबार में पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा वह राजनेता जरुर हैं, लेकिन राजनीति नहीं करते हैं। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री से मिलने गई टीम में बिहार के मुखिया नेतृत्व कर रहे थे। उनकी तरफ से सबसे पहले यह मांग की गई थी, लेकिन नेता प्रतिपक्ष यह बताना चाह रहे हैं कि वह ही सिर्फ इस मुद्दे को लेकर गंभीर है। जीतन राम मांझी ने कहा कि अभी दो सप्ताह का भी समय नहीं गुजरा है, इतनी जल्दी रिमांइडर भेजने की बात कही से सही नहीं है। प्रधानमंत्री ने हमारी बातों को ध्यान से सुना था, मुझे लगता है कि वह इस मसले पर कोई बेहतर निदान निकालेंगे। इसके लिए उन्हे तीन चार माह का समय देना चाहिए। इसके बाद कुछ नहीं होता है तो रिमांइडर भेजने पर विचार किया जाएगा।

जनता दरबार की आलोचना पर भी नाराज

इस दौरान जनता दरबार के आयोजन को लेकर राजद की तरफ से सवाल उठाए जाने को लेकर भी अपनी नाराजगी जाहिर की है। उनका कहना था कि इस पर राजद बेवजह की राजनीती कर रही है। उन्होंने कहा लोगों की समस्या सुनना और उन्हें दूर करने की कोशिश करना राजद को कैसे गलत लग सकता है। यह समझ से परे है। मुझे लगता है कि अगर हम उनकी समस्या को दूर कर सकते हैं, तो उसे दूर जाना सही नहीं है।


Find Us on Facebook

Trending News