प्रधानमंत्री मोदी के इस फैसले से गदगद हो गए जीतन राम मांझी, कहा - “मोदी है तो मुमकिन है”

प्रधानमंत्री मोदी के इस फैसले से गदगद हो गए जीतन राम मांझी, कहा - “मोदी है तो मुमकिन है”

PATNA :  चार दिन पहले अग्निपथ योजना पर केंद्र की मोदी सरकार के फैसले पर सवाल उठानेवाले बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी ने नरेंद्र मोदी की तारीफ की है। उन्होंने अपने ट्विटर पोस्ट पर लिखा है कि “मोदी है तो मुमकिन है।” 

दरअसल मांझी की इस खुशी का कारण है देश के राष्ट्रपति पद के लिए एक दलित महिला को कैंडिडेट बनाने का फैसला. जिस तरह से कल पीएम मोदी के नेतृत्ववाली एनडीए ने झारखंड की पूर्व राज्यपाल द्रोपदी मुर्मू को अपना उम्मीदवार बनाया है। उससे जीतन राम मांझी बेहद खुश हैं। उनकी यह खुशी उनके ट्विटर पोस्ट पर भी देखा जा सकता है। जहां उन्होंने पोस्ट किया है कि 'पूर्व राज्यपाल,आदिवासी समुदाय की शान,हमारी बहन श्रीमती द्रौपदी मुर्मू जी को NDA की तरफ से राष्ट्रपति उम्मीदवार बनाएं जानें पर हार्दिक बधाई एवं शुभकामनाएं। ये गर्व का क्षण है जब लगातार दूसरी बार हमारे बीच से कोई राष्ट्रपति बनने जा रहा है। “मोदी है तो मुमकिन है।”

किया समर्थन का ऐलान

इसके साथ ही मांझी की पार्टी हम ने ऐलान कर दिया है कि वह राष्ट्रपति चुनाव में द्रोपदी मुर्मू के साथ है। पार्टी प्रवक्ता दानिश रिजवान ने कहा है कि मोदी सरकार ने एक दलित की बेटी को देश के सर्वोच्च पद के लिए चुनकर साबित कर दिया है कि वह सभी वर्ग के लिए काम करती है। बता दें कि अभी रामनाथ कोविंद देश के राष्ट्रपति हैं, जो कि दलित वर्ग से आते हैं। अब उनकी जगह एक बार फिर से भाजपा ने एक दलित वर्ग से एक महिला को अपना उम्मीदवार बनाकर बड़ा दांव खेल दिया है। जाहिर है कि अब विपक्ष उनका विरोध करता है तो यह माना जाएगा कि वह दलित विरोधी हैं। हालांकि विपक्ष ने यशवंत सिन्हा को अपना उम्मीदवार बनाया है. जो कि एक सवर्ण चेहरा माने जाते हैं।





Find Us on Facebook

Trending News