जूनियर डॉक्टरों की हड़ताल खत्म, स्वास्थ्य विभाग के अपर मुख्य सचिव के आश्वासन के बाद काम पर लौटे

जूनियर डॉक्टरों की हड़ताल खत्म, स्वास्थ्य विभाग के अपर मुख्य सचिव के आश्वासन के बाद काम पर लौटे

पटना. स्टाइपेंड बढ़ाने की मांग को लेकर चार दिनों चल रहे जूनियर डॉक्टरों का प्रदर्शन खत्म हो गया है। इसके बाद जूनियर डॉक्टर्स काम पर लौट गये हैं। इससे पहल इस हड़ताल को खत्म करने के लिए स्वास्थ्य विभाग के मुख्य अपर सचिव प्रत्यय अमृत से प्रदर्शनकारियों की वार्ता हुई। उनके आश्वासन के बाद प्रदर्शन खत्म हुआ है।जेडीए अध्यक्ष मनोरंजन कुमार ने बताया है कि अगले कैबिनेट मीटिंग में प्रस्ताव रखने की बात कही गई है।

आज शाम 4 बजे इंटर्न डाक्टर की वार्ता स्वास्थ्य विभाग के अपर मुख्य सचिव प्रत्यय अमृत से हुई। इसमें पीएमसीएच अधीक्षक एस ठाकुर, प्राचार्य विद्यापति चौधरी, डॉ. कुंदन सुमन, जेडीए प्रेसिडेंट बिहार मनोरंजन कुमार भी शामिल हुए। इसमें अपर मुख्य सचिव ने आश्वासन दिया कि इंटर्न के स्टाइपेंड को अगले कैबिनेट मीटिंग में रखा जाएगा। साथ ही उन्होंने प्रदर्शन खत्म करने की अपील की।

स्टाइपेंड बढ़ाने की मांग को लेकर जूनियर डॉक्टरों का प्रदर्शन चौथे दिन भी जारी रहा। इससे अस्पताल में इलाज की व्यवस्था चरमरा गई थी। मरीजों को काफी परेशानी हो रही थी। मरीज प्राइवेट अस्पतालों में जा रहे थे। वहीं इन डॉक्टर ने चेतावनी दी थी कि यदि इनकी मांग नहीं पूरी हुई तो आने वाले दिनों में ओपीडी के साथ इमरजेंसी सेवा को भी बाधित कर दिया जाएगा।

सूबे के सबसे बड़े सरकारी अस्पताल पीएमसीएच में जूनियर डॉक्टरों की हड़ताल और प्रदर्शन से मरीज परेशान था। चौथे दिन भी ट्रेनी डॉक्टरों की पटना सहित सूबे के कई मेडिकल कॉलेजों में स्टाइपेंड बढ़ने की मांग को लेकर प्रदर्शन जारी रहा। बुधवार को पीएमसीएच के जूनियर डॉक्टरों ने स्वास्थ्य बिभाग के मंत्री तेजस्वी यादव से मिले। उन्होंने अपनी स्टाइपेंड की राशि बढ़ाने की मांग की है। वहीं गुरुवार को ओपीडी सेवा को पूरी तरह से बाधित कर प्रदर्शन किया गया।

Find Us on Facebook

Trending News