कैमूर में छिनतई गिरोह का आतंक, बैक में पैसे निकासी के दौरान छीने 50 हज़ार रूपये, लोगों ने एक को पकड़ा

कैमूर में छिनतई गिरोह का आतंक, बैक में पैसे निकासी के दौरान छीने 50 हज़ार रूपये, लोगों ने एक को पकड़ा

KAIMUR : कैमूर जिले के मोहनिया स्थित पंजाब नेशनल बैंक से पैसा निकालने के क्रम में एक व्यक्ति को छिनतई गिरोह ने अपना निशाना बना लिया. जैसे ही व्यक्ति के द्वारा कैश काउंटर से पैसा लेकर झोला में रखा गया. वैसे ही छिनतई गिरोह के सदस्य झोला काटकर पैसा लेकर भागने लगे. इसी क्रम में व्यक्ति ने गिरोह के एक सदस्य को पकड़ लिया. इसके बाद पीड़ित और बैंक में आये कुछ लोगों ने अपराधी को शाखा प्रबंधक को सौंप दिया. उस समय कुछ देर के लिए बैंक में अचानक अफरा तफरी मच गया. बैंक में हंगामा होने लगा. जिसका लाभ उठाकर कुछ अपराधी भाग निकले. शाखा प्रबंधक ने त्वरित कार्रवाई करते हुए मोहनिया थाना को इस बात की सूचना दी. सूचना पर पहुंची मोहनिया थाना ने अभियुक्त को अपनी गिरफ्त में ले लिया और आगे की कार्रवाई शुरू कर दी.  

इस संबंध में पूछे जाने पर शाखा प्रबंधक के द्वारा बताया गया कि हमारे बैंक मैं एक व्यक्ति ने अपने खाते से 49 हजार 500 का निकासी किया. इसके बाद छिनतई गिरोह के द्वारा उनका पैसा झोला काट कर ले लिया गया. बैंक में हंगामा शुरू हो गया. उस क्रम में एक व्यक्ति को पकड़ कर हमारे पास लाया गया. पूछताछ में पता चला कि वह व्यक्ति उस गिरोह का ही सदस्य हैं. बाकी अन्य लोग अफरा तफरी के दौरान भाग गया. इस मामले की जांच के लिए हम सीसीटीवी फुटेज पुलिस को सौंपेंगे. वही मोहनिया थाना के एसआई राम जीवन कुमार ने बताया कि शाखा प्रबंधक ने जानकारी दी की एक व्यक्ति पकड़ाया है. उसे लेकर हम थाना जा रहे हैं.  

वही पीड़ित के द्वारा बताया गया कि हम बैंक में पैसा निकालने के लिए आए थे. लाइन में खड़ा होकर पैसा निकालें. जैसे ही काउंटर से पैसा अपने झोला में रखें. हमारे बगल में खड़ा एक व्यक्ति के द्वारा अपना झोला नीचे गिरा दिया गया. इसके बाद झोला काटकर हमारा 49 हजार 500 लेकर भागने लगे. भागने के क्रम में एक व्यक्ति को हमने पकड़ लिया. वे लोग चार पांच के संख्या में थे. इसकी सूचना हमने शाखा प्रबंधक को दिया. 

बता दें कि कैमूर जिले में छिनतई गिरोह काफी सक्रिय है. बैंक से महज 100 मीटर दूर चांदनी चौक है. जहां की 24 घंटे पुलिस का पहरा रहता है. इतना ही नहीं सभी बैंकों में हर एक घंटा पर पुलिस का पेट्रोलिंग होता रहता है. शाखा के अंदर जांच करने के लिए दो चौकीदार भी नियुक्त हैं. गौर करने की बात यह है की शाखा के अंदर यह घटना सवाल बन कर रह गया है. यह कोई पहला मामला नहीं है. तीन महीने के अंदर यह तीसरा मामला है. शाखा के अंदर कैश काउंटर पर ही अपराधी सक्रिय हैं. पैसे का जैसे ही निकासी होता है. अपराधी वैसे ही अपना हाथ साफ कर लेते हैं. 

कैमूर से देवब्रत की रिपोर्ट 

Find Us on Facebook

Trending News