जल्द नहीं रोका गया कोयले की चोरी, तो खतरे में पड़ सकती है गिरिडीह के बनियाडीह की बड़ी आबादी

जल्द नहीं रोका गया कोयले की चोरी, तो खतरे में पड़ सकती है गिरिडीह के बनियाडीह की बड़ी आबादी

GIRIDIH : कोयला चोरों के अवैध कारोबार का परिणाम है कि गिरिडीह के सीसीएल क्षेत्र बनियाडीह के कई इलाके भूमिगत आग के खतरे में आ गए है। शुक्रवार को भी महुआपथारी इलाके में भूमिगत आग के कारण धुंआ निकलते देखा गया। स्थानीय लोग जब धुंआ निकलने वाले स्थान पर पहुंचे तो देखा कि जमीन के भीतर से आग की बड़ी-बड़ी लपटें उठ रही है। जबकि मौसम भीषण गर्मी का है। 

हालात देख स्थानीय लोग भी समझ गए कि पूरा इलाका भूमिगत आग के चपेट में आ चुका है। लिहाजा, लोगों ने स्थानीय प्रशासन से पहले इस इलाके के भीतर लगी आग बुझाने का मांग किया है। वहीँ इन इलाकों के कोयला चोरों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की भी मांग की है। वैसे महुआपतारी इलाके में जमीन के भीतर से निकल रहा आग कोई नया नही है। क्योंकि तीन दिन पहले ही बनियाडीह के भदुआपहाड़ी इलाके में भूमिगत आग की लपटों के साथ धुंआ निकलते देखा गया। स्थानीय लोगों की चिंता का कारण है कि अगर हर रोज हो रहे कोयला चोरी को नहीं रोका गया तो भूमिगत आग का खतरा आसपास के आठ किमी के इलाके को अपने चपेट में ले लेगा।

मिली जानकारी के अनुसार इन इलाकों में एक बड़ी आबादी बसी हुई है। लगातार हो रहे कोयला चोारी के परिणाम को अब स्थानीय लोग देखने के साथ समझ भी रहे है कि हालात दिनोंदिन किस प्रकार बिगड़ता जा रहा है। इधर शुक्रवार को महुपतारी इलाके में जिस प्रकार आग की लपटें जमीन के भीतर से निकल रही थी। वो नजारा लोगों के लिए भयावह था। इधर स्थानीय लोगों द्वारा जानकारी देने पर अग्निशमन विभाग का वाहन प्रभावित इलाकों में पहुंचा और आग पर काबू पाने में जुट गया।

गिरिडीह से चन्दन पाण्डेय की रिपोर्ट

Find Us on Facebook

Trending News