बैडमिंटन के वर्ल्ड चैंपियनशिप के फाइनल में पहुंचे किदांबी श्रीकांत, ऐसा कारनामा करनेवाले पहले भारतीय पुरुष खिलाड़ी

बैडमिंटन के वर्ल्ड चैंपियनशिप के फाइनल में पहुंचे किदांबी श्रीकांत, ऐसा कारनामा करनेवाले पहले भारतीय पुरुष खिलाड़ी

DESK : स्पेन में चल रहे बैडमिंटन के BWF वर्ल्ड चैंपियनशिप में भारत के पुरुष खिलाड़ियों ने बड़ी कामयाबी दर्ज की है। पूर्व नंबर एक खिलाड़ी किदांबी श्रीकांत ने फाइनल में जगह बना ली है। वह इस खिताबी मुकाबले में पहुंचने वाले भारत के पहले पुरुष शटलर बन गए हैं। वहीं युवा खिलाड़ी लक्ष्य सेन ने भी ब्रांज मेडल जीतने में कामयाबी हासिल की है।

BWF वर्ल्ड चैंपियनशिप के सेमीफाइनल में उन्होंने लक्ष्य सेन को हराया। हालांकि युवा शटलर ने भी उन्हें चुनौती दी और एक वक्त श्रीकांत उनसे पिछड़ते हुए नजर आ रहे थे, पर अपने अनुभव का इस्तेमाल करते हुए श्रीकांत ने वापसी की। श्रीकांत ने लक्ष्य सेन को 17-21, 21-14, 21-17 से हराया। दोनों के बीच यह मुकाबला एक घंटा 9 मिनट तक चला। 

पहला गेम लक्ष्य सेन ने जीता

पहला गेम लक्ष्य सेन ने 17-21 से जीता। लक्ष्य ने शुरुआत में ही 11-8 की बढ़त बना ली। वहीं श्रीकांत ने वापसी की कोशिश की और स्कोर 17-16 किया लेकिन सेन ने लगातार 5 अंक लेकर पहला गेम जीत लिया। वहीं श्रीकांत ने वापसी करते हुए दूसरे गेम को 21 मिनट में 21-14 से जीत लिया। तीसरे और निर्णायक गेम में लक्ष्य ने बढ़त बनाई और वह एक वक्त 13-10 से आगे चल रहे थे। ऐसे में श्रीकांत ने लक्ष्य की कुछ गलतियों का फायदा उठाते हुए और अपना तमाम अनुभव दिखाकर पहले स्कोर 13-13 और फिर 16-16 किया। श्रीकांत ने फिर लगातार 3 अंक बटोरे और 21-17 से गेम और मुकाबला जीतकर फाइनल में जगह बना ली।


लक्ष्य के हिस्से में आया ब्रांज मेडल

सेमीफाइनल में हार के बाद भी लक्ष्य सेन ब्रॉन्ज मेडल जीत चुके हैं। उनसे पहले प्रकाश पादुकोण 1983 में, जबकि बी साई प्रणीत ने 2019 में वर्ल्ड चैंपियनशिप में ब्रॉन्ज मेडल जीत चुके हैं।

श्रीकांत रहे चुके हैं वर्ल्ड नंबर 1

आंध्र प्रदेश के गुंटूर के रहने वाले किदांबी श्रीकांत 2018 वर्ल्ड नंबर वन रह चुके हैं। वह ऑस्ट्रेलियन ओपन, इंडोनेशिया ओपन, सिंगापुर ओपन, चाइना ओपन सहित कई खिताब अपने नाम दर्ज करा चुके हैं।

स्पेन में चल रही है चैंपियनशिप

बीडब्ल्यूएफ वर्ल्ड चैंपियनशिप का आयोजन स्पेन के ह्यूएलवा में 12 दिसंबर से हो रहा है और 19 दिसंबर तक चलेगा। इस बार इंडोनेशिया की टीम भाग नहीं नहीं ले रही है।

Find Us on Facebook

Trending News