नेपाल की सीमा पर अचानक बढ़ गया वीआईपी मूवमेंट, कई बड़े अधिकारियों की मोजूदगी से लोगों में मच गया हड़कप, जानिए क्या हुआ वहां

नेपाल की सीमा पर अचानक बढ़ गया वीआईपी मूवमेंट, कई बड़े अधिकारियों की मोजूदगी से लोगों में मच गया हड़कप, जानिए क्या हुआ वहां

ARARIA : होली में बिहार में शराब की आवक को पूरी तरह से फेल करने के लिए मद्य निषेध विभाग लगातार छापेमारी कर रही है। खासकर बिहार के सीमाओं पर जांच तेज कर दी गई है। इसी सिलसिले में मद्य निषेध विभाग के अपर मुख्य सचिव केके पाठक  शनिवार की देर शाम भारत-नेपाल जोगबनी पहुंच गए। इस दौरान करीब तीन किलोमीटर तक नो मैंस लैंड का निरीक्षण करते हुए मद्य निषेध की दिशा में कानून को सख्ती से लागू करने को लेकर कई संभावनाओं का आकलन भी किया गया।

तमाम आला अधिकारियों को देख लोग भी हैरान

इस मौके पर जिला पदाधिकारी प्रशांत कुमार सीएच, एसपी अशोक कुमार सिंह, एसएसबी के कमांडेंट एमकेएस मुंडा, एसडीओ सुरेंद्र कुमार अलबेला, डीएसपी रामपुकार सिंह, जोगबनी थानाध्यक्ष आफताब आलम, सीओ संजीव कुमार, मध्य निषेध के कई अधिकारी एवं बड़ी संख्या में एसएसबी एवं पुलिस पदाधिकारी मौजूद थे। अधिकारियों ने सबसे पहले जोगबनी बॉर्डर से लेकर टिकुलिया बस्ती के इलाके में नो मैंस लैंड का मुआयना किया।

वहीं इलाके में अचानक हुए वीआईपी मूवमेंट ने आमलोगों के कौतूहल को भी जगा दिया। अचानक इतने अधिकारियों के आने के बाद लोग यह जानना चाह रहे थे कि आखिर यहां क्या हो रहा है। किसी को कुछ भी समझ में नहीं आ रहा था। वहीं इतने अधिकारियों को एक साथ देखकर अवैध धंधे मे लिप्त कुछ लोग भागते भी नजर आए।   

सीमा पर मद्य निषेध को लेकर सख्ती बढ़ाने के निर्देश

औचक निरीक्षण के बाद अपर मुख्य सचिव ने डीएम-एसपी सहित कई अधिकारियों के साथ मद्य निषेध कानून को पुख्ता करने की दिशा में विचार-विमर्श किए एवं कई दिशा-निर्देश दिए। इस संबंध में डीएम ने बताया कि अपर मुख्य सचिव मध्य निषेध द्वारा भारत नेपाल जोगबनी बॉर्डर का निरीक्षण किया गया। खासकर मध्य निषेध से संबंधित नियम का किस तरह से अनुपालन हो रहा है इसको देखा गया। इसके अलावा एसएसबी और नेपाल के एपीएफ के ज्वाइंट ऑपरेशन पर भी बात विचार करते हुए एसएसबी के साथ जिला पुलिस के समन्वय के विषय में भी कई निर्देश दिए गए। 


Find Us on Facebook

Trending News