बिहार विधानसभा चुनाव 2020: जानिए किन पार्टियों द्वारा कितने महिला उम्मीदवार को मैदान में उतारा गया... चर्चित मुखिया से लेकर दागी पूर्व मंत्री तक मैदान में

बिहार विधानसभा चुनाव 2020: जानिए किन पार्टियों द्वारा कितने महिला उम्मीदवार को मैदान में उतारा गया... चर्चित मुखिया से लेकर दागी पूर्व मंत्री तक मैदान में

बिहार विधानसभा चुनाव 2020: जानिए किन पार्टियों द्वारा कितने महिला उम्मीदवार को मैदान में उतारा गया... चर्चित मुखिया से लेकर दागी पूर्व मंत्री तक मैदान में

पटना : बिहार विधानसभा चुनाव 2020 के प्रत्याशियों की घोषणा हो चुकी है और सभी प्रत्याशी अपने विधानसभा क्षेत्र के मैदान में कमर कसकर उतर चुके हैं। आज हम बात करेंगे बिहार विधानसभा चुनाव में किन पार्टियों द्वारा कितने महिला उम्मीदवार को मैदान में उतारा गया है। हालांकि इस चुनाव में लगभग हर राजनीतिक पार्टी के उम्मीदवारों की लिस्ट में जातीय समीकरण और मुस्लिमों को उचित प्रतिनिधित्व देखने को मिल रहा है। लेकिन अब भी पार्टियों के द्वारा महिलाओं को उचित प्रतिनिधित्व देने में दलों का रवैया भेदभाव वाला दिखता है। हालांकि सभी पार्टियों के द्वारा महिला उम्मीदवार को चुनावी मैदान में उतारा गया है। जहां जदयू 22 तो एनडीए 13 तो राजद 16 कांग्रेस 7 और वाम दल से  सिर्फ एक महिला उम्मीदवार से मैदान में है।वही लोजपा ने 18 महिला उम्मीदवार को चुनावी मैदान में उतारा है


.....सासाराम की रैली में पीएम सीएम सहित होगा सिर्फ़ 6 नेताओं के बैठने की व्यवस्था, बनाए गए दो मंच

आपको बताते चलें कि जेडीयू के द्वारा बिहार विधानसभा चुनाव 2020 में अजीम अररिया से शगुफ्ता सहित 22 महिलाओं अपनी पार्टी से टिकट दिया है। वही राजद छोड़कर जदयू में शामिल होने वाले इलियास हुसैन की बेटी अंजुम आरा को ददन पहलवान के विधानसभा क्षेत्र डुमरांव सीट से चुनावी मैदान में उतारा है। तो दूसरी तरफ बिहार सरकार की पूर्व मंत्री मंजू वर्मा जिन्हें मंत्रिमंडल से इस्तीफा देकर बालिका गृह कांड में जेल जाना पड़ा था वह भी जदयू के टिकट पर बेगूसराय के चेरिया बरियारपुर सीट से चुनावी दंगल में उतर चुकी है। दूसरी तरफ अगर बात करें एनडीए गठबंधन की तो 110 सीट पर चुनाव लड़ रही बीजेपी के द्वारा भी 13 महिलाओं को चुनावी मैदान में उतारा गया है ।जिसमें से जमुई विधानसभा से पूर्व केंद्रीय मंत्री स्वर्गीय दिग्विजय सिंह की बेटी अंतरराष्ट्रीय शूटिंग चैंपियन रही श्रेयसी सिंह चुनावी मैदान में है। वही बेतिया विधानसभा क्षेत्र से रेणु देवी नरकटियागंज से रश्मि वर्मा पर पार्टी ने अपना भरोसा जताया है।


निर्दलीय प्रत्याशी के समर्थकों ने बीजेपी एमएलए का किया विरोध, जम कर की नारेबाजी...

अब अगर बात करें बिहार में महागठबंधन की तो 240 सीटों में से 24 सीटों पर महिला उम्मीदवार को टिकट दिया गया है। जहां राष्ट्रीय जनता दल के द्वारा 16 महिला उम्मीदवारों को चुनावी मैदान में उतारा गया है तो कांग्रेस ने सात और वामदलों ने सिर्फ एक महिला पर अपना भरोसा जताया है। राजद के द्वारा जहां पूर्व सांसद आनंद मोहन की पत्नी लवली आनंद को सहरसा विधानसभा क्षेत्र से उम्मीदवार बनाया है। वही सीतामढ़ी परिहार विधानसभा क्षेत्र से रितु जायसवाल को चुनावी मैदान में उतारा है। रितु जायसवाल अपने आप में काफी चर्चित मुखिया रह चुकी है जिन्हें उपराष्ट्रपति के द्वारा चैंपियंस ऑफ़ चेंज अवार्ड से सम्मानित किया गया था। हाल फिलहाल में उन्हें भारत के ग्रामीण विपणन संघ द्वारा फ्लेम लीडरशिप अवार्ड, 2019 से सम्मानित भी किया गया था। वहीं कांग्रेस के द्वारा मधेपुरा के बिहारीगंज सीट से शरद यादव की बेटी सुभाषिनी यादव को चुनावी मैदान में उतर गया है।

बीजेपी की बढ़ी मुश्किलें, चुनाव आयोग पहुंचा मुफ्त कोरोना वैक्सीन देने का वादा

वही लोक जनशक्ति पार्टी  की तो एनडीए गठबंधन से अलग होने के बाद 18 महिला उम्मीदवार को चुनावी मैदान में उतारा है जिसमें पूर्व बीजेपी नेता उषा विद्यार्थी भी शामिल है जो पालीगंज विधानसभा सीट से चुनावी मैदान में हैं।उल्लेखनीय है कि बिहार विधानसभा चुनाव 2020 की 243 सीटों पर पहले चरण में 71 सीटों पर 28 अक्टूबर को मतदान होगा वही 94 सीटों के लिए दूसरे चरण पर 3 नवंबर को और तीसरे चरण का मतदान 78 सीटों पर 7 नवंबर को होगा। वही 10 नवंबर 2020 को परिणाम घोषित किए जाएंगे।

Find Us on Facebook

Trending News