लालू के जाल में नहीं आए मांझी और सहनी, सरकार बनाने के लिए संपर्क साधने की राजद अध्यक्ष ने की थी कोशिश

लालू के जाल में नहीं आए मांझी और सहनी, सरकार बनाने के लिए संपर्क साधने की राजद अध्यक्ष ने की थी कोशिश

पटना... राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद के कथित ऑडियाे के मामले में रांची जेल के आईजी ने अब जांच के आदेश दे दिए हैं। इसके बाद भी ये मामला शांत होने का नाम नहीं ले रहा है। जेल से लालू प्रसाद की ओर से विधायक ललन पासवान को फोन करने पर सियासत गरमाई हुई है। इस बीच हम और वीआईपी के अध्यक्ष ने भी लालू प्रसाद को लेकर बड़ा खुलासा कर दिया है। हम के अध्यक्ष जीतन राम मांझी ने कहा कि लालू प्रसाद ने मुझे और मेरे विधायकोें को संपर्क करने की कोशिश की तो वीआईपी के अध्यक्ष दो कदम आगे बढ़ते हुए ये कह दिया कि जेल से लालू के बातचीत का वीडियाे भी है, जिसे हासिल करने का प्रयास किया जा रहा है।  सुशील मोदी के बाद अब पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी और वीआईपी के अध्यक्ष मुकेश सहनी ने लालू प्रसाद पर आरोप लगाए  हैं। 

वहीं इस मामले पर जेडीयू नेता और पूर्व मंत्री नीरज कुमार ने लालू यादव के सेवादार को लेकर सवाल उठा चुके हैं। नीरज कुमार ने पूछा है कि जेल के बाहर के लोग को लालू यादव का सेवादार कैसे नियुक्त किया गया? वहीं झारखंड सरकार से भी उन्होंने इसे लेकर सवाल पूछा है। उन्होंने कहा कि इस मामले पर जेल आइजी ने जांच के आदेश दिए थे उस जांच का क्या हुआ? नीरज कुमार ने  राजद अध्यक्ष को आदतन अपराधी बताते हुए तिहाड़ जेल भेजने की मांग की है।

दूसरी ओर इस कथित ऑडियो मामले में फंसे लालू यादव के बचाव में महागठबंधन के नेता उतर आए हैं। इसी क्रम में कांग्रेस के राज्यसभा सांसद अखिलेश सिंह ने कहा कि मैंने भी सुना है, लेकिन यह तो उनकी आवाज़ ही नहीं है। उन्होंने कहा कि सुशील मोदी अब उपमुख्यमंत्री नहीं हैं इसलिए अपनी अहमियत बनाए रखने के लिए शिगूफा छोड़ रहे हैं। वहीं विकासशील इंसान पार्टी के अध्यक्ष व बिहार सरकार में मंत्री मुकेश सहनी ने यह कहकर चौंका दिया है कि जेल से लालू प्रसाद की बातचीत का वीडियो भी है। ये वीडियो पाने की हम कोशिश कर सकते हैं।

Find Us on Facebook

Trending News