पलामू कोर्ट में पेशी के लिए पहुंचे लालू प्रसाद ने खुद को बताया गिल्टी, जानें सजा मिलने के बाद भी क्यों खुश हैं राजद सुप्रीमो

पलामू कोर्ट में पेशी के लिए पहुंचे लालू प्रसाद ने खुद को बताया गिल्टी, जानें सजा मिलने के बाद भी क्यों खुश हैं राजद सुप्रीमो

PALAMU/PATNA : 13 साल पुराने मामले में पलामू  के कोर्ट में आज लालू प्रसाद पेशी के लिए पहुंचे।  जहां लालू प्रसाद यादव ने पलामू कोर्ट में खुद को गिल्टी बताया। जिसके बाद कोर्ट ने अपना फैसला सुनाते हुए उन्हें दोषी माना है और उन पर छह हजार रुपए का जुर्माना लगाया और उन्हें इस  केस से दोषमुक्त कर दिया गया है। यह केस अब खत्म हो गया है,  जिसके बाद न सिर्फ लालू प्रसाद,  बल्कि उनके समर्थकों में भी खुशी नजर आ रही है।

ये मामला सतीश कुमार मुंडा न्यायिक दंडाधिकारी प्रथम श्रेणी व एमपी एमएलए स्पेशल कोर्ट में चल रहा था लालू की ओर से कोर्ट में हाई कोर्ट के वकील प्रभात कुमार सिंह ने पैरवी की। 

गलत जगह उतार दिया था हेलीकॉप्टर

साल 2009 में झारखंड विधानसभा चुनाव के दौरान गढ़वा में लालू प्रसाद यादव पर आदर्श चुनाव आचार संहिता का मामला दर्ज किया गया था. दरअसल उस वक्त गढ़वा विधानसभा से गिरिनाथ सिंह राजद के उम्मीदवार थे. लालू यादव को चुनाव प्रचार में गढ़वा आना था. सभा स्थल गढ़वा के गोविंद उच्च विद्यालय को बनाया गया था. इसके लिए कल्याणपुर में हेलीपैड तैयार था. लेकिन उनका हेलिकॉप्टर निर्धारित हेलीपैड की जगह सभा स्थल में उतरा. जिसके बाद वहां पर लोगों के बीच भगदड़ मच गयी


Find Us on Facebook

Trending News