लापरवाही : CM का निर्देश भी नहीं मानती पुलिस, कुछ इलाकों को छोड़ दें तो कहीं नजर नहीं आती गश्त, देखें वीडियो....

लापरवाही : CM का निर्देश भी नहीं मानती पुलिस, कुछ इलाकों को छोड़ दें तो कहीं नजर नहीं आती गश्त, देखें वीडियो....

पटना... बिहार में बढ़ते अपराध पर अंकुश लगाने के लिए पुलिस को रात्रि गश्त में चौकसी बरतने को लेकर सख्त निर्देश दिए गए हैं। हाल ही में मुख्यमंत्री ने एक बैठक कर कहा था कि राजधानी पटना में गश्त के दौरान अधिकारी भी मौजूद रहें, लेकिन अधिकतर जगहों पर पटना के चौराहे खाली रहीं। इतना ही नहीं जिन गाड़ियों को चौराहों पर देखा भी गया तो उनकी पुलिस ठंड में गाड़ियों के भीतर ही आराम फरमाते रहे। बात अगर अपराध की करें तो महज दो दिन पहले राजधानी पटना के दो थानों के बीच बने फ्लाई ओवर पर एक महिला को अपराधियो ने लूट के दौरान गोली मार दी। 

हालांकि इस मामले में तीन अपराधकर्मी पकड़े गए, लेकिन महिला की जान तो चली ग। घटना के बाद बैठकों का दौर तो जरूर चला और सूबे के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार अपने अधिकारियों और प्रशासनिक आला अधिकारियों के साथ बैठक कर साफ तौर पर गश्त बढ़ाने और लॉ एंड आर्डर को संभालने के सख्त निर्देश भी दिए, लेकिन मध्यरात्रि को न्यूज4नेशन की टीम ने जब राजधानी पटना के सड़कों पर रात्रि गश्ती और आम जनता की सुरक्षा को लेकर रियालिटी चेक की तो नतीजे चौकाने वाले थे। 

हमने सफर बाइक से पटना के पीरबहोर थाना क्षेत्र से शुरू किया, जो अशोक राज पथ होते हुए पटना सिटी गांधी सेतु के नीचे आलमगंज थाना क्षेत्र पहुंचे। जो अशोक राज पथ को पटना सिटी इलाके से जोड़ता है। यहां कुछ लोग तो जरूर सड़क पर दिखे पर यहां न तो पुलिस दिखी न ही सुरक्षा। इसके बाद जब अगमकुआं थाना इलाके के पुल को पार कर अगमकुआं थाना क्षेत्र के भूतनाथ रोड यहां भी स्थितियां चौकाने वाली थी। सड़क पर वाहन तो जरूर दिखे पर पुलिसकर्मी नदारद। 

वहीं, कंकड़बाग इलाके के कांटी फैक्ट्री के पास के पुलिस चेक पोस्ट की जो बिल्कुल खाली पड़ी थी। ऐसे ही कई इलाकों को पार करने के बाद पटना के पॉस इलाका कहे जाने वाला सचिवालय यहां एक पुलिस की गाड़ी तो दिखी पर एक शख्स गाड़ी के अंदर था, जो कंबलों में लिपटा चैन की नींद सो रहा था। हमारे लाख पूछने पर भी वो शख्स न तो बाहर आया न ही किसी प्रकार की कोई प्रतिक्रिया दी। 

इस रियालिटी चेक में मुख्यमंत्री के दिए निर्देशों का कितना पालन हो रहा है, यह बताने के लिए काफी है। इधर पटना के डाकबंगला चौराहा  रात को 1 बजे एक भी पुलिसकर्मी मौजूद नहीं रहे। 

Find Us on Facebook

Trending News