बिहार उत्तरप्रदेश मध्यप्रदेश उत्तराखंड झारखंड छत्तीसगढ़ राजस्थान पंजाब हरियाणा हिमाचल प्रदेश दिल्ली पश्चिम बंगाल

LATEST NEWS

नेता प्रतिपक्ष विजय सिन्हा ने महागठबंधन पर किया हमला, कहा अब ड्राइविंग सीट पर राजद सुप्रीमो लालू यादव, बवाल होना तय

नेता प्रतिपक्ष विजय सिन्हा ने महागठबंधन पर किया हमला, कहा अब ड्राइविंग सीट पर राजद सुप्रीमो लालू यादव, बवाल होना तय

PATNA : बिहार विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष विजय कुमार सिन्हा ने बिहार मंत्रिमंडल विस्तार में अनिश्चितता पर तंज कसते हुए कहा है कि लोकसभा चुनाव में महागठबंधन के दलों में सीट बंटवारे में उठापटक तय है। सिन्हा ने कहा कि राहुल गांधी को अपने आवास पर बुलाकर लालू यादव ने उनसे सीक्रेट डील कर ली है औऱ जदयू को किनारे लगा दिया है। कांग्रेस को एक और मंत्री पद से ज्यादा नहीं देने पर अड़े नीतीश कुमार को अब 2 मंत्री पद और देने के लिए मजबूर किया जा रहा है। 2 मंत्रीपद औऱ पाने का एलान बिहार कांग्रेस का अध्यक्ष पहले ही कर चुके हैं। अब उन्होंने बोर्ड औऱ निगम में भी अपना दावा ठोक दिया है। सब लालू यादव के इशारे पर हो रहा है।

सिन्हा ने कहा कि विपक्षियों की मुम्बई में होने वाली आगामी बैठक में भी नीतीश कुमार को संयोजक नहीं बनाया जायेगा। कांग्रेस अभी भी नीतीश कुमार पर विश्वास करने के लिये तैयार नहीं है। उसे एक मात्र लालू यादव पर भरोसा है जिनके साथ राहुल गांधी कार्य योजना बना चुके हैं। अब लालू प्रसाद बिहार महागठबंधन के ड्राइविंग सीट पर हैं। इसीलिए ख़राब स्वास्थ्य के बावजूद बिहार नहीं छोड़ रहे हैं। जबतक नीतीश कुमार तेजस्वी कुमार के लिये मुख्यमंत्री पद का त्याग नहीं करेंगे। देश स्तर पर विपक्षियों के संघटन में उन्हें कोई पद नहीं दिया जायेगा।

सिन्हा ने कहा कि कांग्रेस के इशारे पर बिहार में जदयू को किनारे लगाने का काम लालूजी ने शुरू कर दिया है। अपने दल के सजायाफ्ता और जेल में बंद नेताओं को बाहर लाने का काम उन्होंने पहले ही शुरू कर दिया है। बोर्ड और निगम में अपने दल के कुछ दागी लोगों को जगह दिलाकर उन्होंने तथाकथित सुशासन की धज्जियाँ उड़ा दी है। जदयू अब इनके पीछे पीछे चलने के लिए मजबूर है।

सिन्हा ने कहा कि बिहार में वामपंथियों के विस्तार के सपनों को लालू यादव औऱ नीतीश कुमार मिलकर चकनाचूर कर रहे हैं। इन्हें न तो मंत्री पद मिला न ही बोर्ड निगम में कोई जगह। 2020 चुनाव के बाद प्रथम विधानसभा सत्र में ही नीतीश कुमार माले के लोगों को सदन में हड़काया था। वह अभिलेख में मौजूद है। किसानों औऱ मजदूर के नाम पर राजनीति करने वाले वामपंथी दल किसान औऱ मजदूर विरोधी महागठबंधन सरकार में उनके हित के लिये कुछ नहीं कर पा रहे हैं। इनकी प्रासंगिकता अब ख़त्म हो चुकी है। सिन्हा ने कहा कि राज्य की जनता महागठबंधन सरकार औऱ इसमें शामिल सभी दलों का खेल देख रही है। आने वाले चुनावों में जनता के सहयोग से भाजपा इनका सूपड़ा साफ कर देगी।

Suggested News