BIG BREAKING : लोजपा का नीतीश कुमार पर बड़ा हमला, भ्रष्टाचार का पिटारा है आपका सात निश्चय

BIG BREAKING :  लोजपा का नीतीश कुमार पर बड़ा हमला, भ्रष्टाचार का पिटारा है आपका सात निश्चय

PATNA: NDA के अंदर जारी घमासान के बीच चिराग पासवान ने एक बार फिर से बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर सीधा हमला बोला है. सीट के बटवारे में हो रही देरी के बीच चिराग पासवान द्वारा नीतीश कुमार पर सबसे बड़ा हमला बोला गया है. जिसमें उन्होंने नीतीश कुमार के ड्रीम प्रोजेक्ट सात निश्चय पर सवाल उठाते हुए कहा कि सात निश्चय के सभी कार्य अधूरे रह गये, भुगतान भी नहीं हुआ, सात निश्चय भ्रष्टाचार का पिटारा है.


सात निश्चय को लोजपा नहीं मानती

चिराग पासवान की तरफ से बताया गया है कि अगली सरकार में लोजपा बिहार फ़र्स्ट बिहारी फ़र्स्ट विज़न डॉक्युमेंट को लागू करेगी।मतलब साफ है कि चिराग पासवान ने नीतीश कुमार की एजेंडे पर चोट कर मैसेज दे दिया है कि वे अपने निर्णय से एक कदम भी पीछे हटने वाले नहीं है।चिराग पासवान ने एनडीए छोड़ने का मन बना लिया है,सिर्फ ऐलान बाकी है।

रविशंकर बोले-एडीए अटूट

उधर,बीजेपी के वरिष्ठ नेता और केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा है कि चिराग पासवान से बातचीत के लिए हमारे राष्ट्रीय अध्यक्ष ने 3-4 लोगों को अधिकृत किया है वे लोग सहयोगियों से लगातार बात कर रहे हैं और बिहार में एनडीए की जीत होगी.बता दें कि चिराग पासवान के रूख की वजह से एनडीए में सीट बंटवारे के निर्णय पर अब तक कोई निर्णय नहीं लिया जा सका है। लोजपा की तरफ से कहा जा रहा है कि उनकी 143 सीटों पर तैयारी चल रही है।लोजपा सुप्रीमो चिराग पासवान ने 3 अक्टूबर को पार्टी की संसदीय बोर्ड की बैठक बुलाई है।

नीतीश कुमार ने सात निश्चय-2 का किया है ऐलान

नीतीश कुमार ने एक बार फिर से ऐलान किया है कि अगर बिहार की जनता चुनाव में एक बार फिर से विजय दिलाती है तो अगली बार सात निश्चय पार्ट-2 लागू करेंगे।इस सात निश्चय के तहत पहला कार्यक्रम युवा शक्ति बिहार की प्रगति के तहत हर ज़िले में मेगा स्किल सेंटर, हर प्रमंडल में मेगा स्किल सेंटर एवं उद्यमिता हेतु एक नया विभाग बनाने की उन्होंने घोषणा की. साथ ही उद्यम लगाने के लिए अनुदान और प्रोत्साहन देने का भी नीतीश ने ऐलान किया. इसके दूसरे कार्यक्रम में सशक्त महिला-सक्षम महिला के तहत जहां महिला उद्यमिता हेतु विशेष योजना बनाई जाएगी, वहीं इंटर पास करने पर 25, हज़ार वहीं अब स्नातक  करने वाली महिलाओं को 50 हज़ार की आर्थिक सहायता का वादा किया. इसके अलावा क्षेत्रीय प्रशासन में आरक्षण के अनुरूप महिलाओं की भागीदारी बढ़ाने का भी वादा किया गया है.

Find Us on Facebook

Trending News