लोजपा (रामविलास) ने मुख्यमंत्री नीतीश से पूछा- दलितों पर जुल्म के मामले में खामोशी क्यों?

लोजपा (रामविलास) ने मुख्यमंत्री नीतीश से पूछा- दलितों पर जुल्म के मामले में खामोशी क्यों?

पटना. लोजपा (रामविलास) ने बिहार में लगातार दलित उत्पीड़न की घटनाओं पर गहरी चिंता प्रकट करते हुए आक्रोश पूर्ण लहजे में कहा कि इससे यह स्पष्ट होता है कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की नजर में दलित के मान सम्मान एवं उनके जानमाल की हिफाजत के कोई मायने नहीं है। मीडिया प्रभारी निशांत मिश्रा ने बताया कि लोक जनशक्ति पार्टी रामविलास के प्रधान महासचिव संजय पासवान ने बिहटा थाना अंतर्गत कंचनपुर गांव में सुरेन्द्र पासवान की हत्या पर गहरी प्रतिक्रिया व्यक्त की है।

मृतक के परिजनों को हर संभव सहायता का आश्वासन देते हुए संजय पासवान ने राज्य सरकार से अविलंब दोषियों की गिरफ्तारी की मांग की है। उन्होंने राज्य सरकार पर जोरदार हमला बोलते हुए कहा कि राज्य की विधि व्यवस्था को पूरी तरह लकवा मार गया है और लोग फिर से दहशत में जी रहे हैं। संजय पासवान ने कहा हमारे राष्ट्रीय अध्यक्ष चिराग पासवान लगातार हर घटनास्थल पर पहुंचकर ना सिर्फ पीड़ित परिवार को आंसू पूछ रहे हैं, बल्कि इन बेकसूर दलितों के साथ इंसाफ के लिए चीख चीख कर मुख्यमंत्री जी की सोई हुई अंतरात्मा को जगाने की कोशिश कर रहे हैं, पर सत्ता के अहंकार में चूर नीतीश जी अनदेखी कर रहे हैं।

आगे उन्होंने कहा कि शर्मनाक बात तो यह है कि आज दलित समाज के विधायक सांसद और मंत्री इन दर्दनाक घटनाओं पर खामोश बैठे हुए हैं। नीतीश कुमार ने भी बिहार में दलितों को मरने के लिए छोड़ दिया है। सख्त लहजे में कहा कि हमारे नेता चिराग पासवान और लोजपा परिवार अकेले ही सभी दलित के जानमाल की हिफाजत के लिए अपना संघर्ष धारदार तरीके से जारी रखें।


Find Us on Facebook

Trending News