लोजपा का मतलब सिर्फ वोटकटवा, चिराग को वोट करना जंगलराज लौटाने वालों को वोट करना होगा,LJP कार्यकर्ता भी NDA कैंडिडेट को जिताएं....

लोजपा का मतलब सिर्फ वोटकटवा, चिराग को वोट करना जंगलराज लौटाने वालों को वोट करना होगा,LJP कार्यकर्ता भी NDA कैंडिडेट को जिताएं....

PATNA: बिहार की राजनीति में लोजपा सुप्रीमो चिराग पासवान अपने आप को साबित करने में जुटे हैं। वे इस बार अकेले चुनाव मैदान में हैं। लोजपा ने खासतौर पर जेडीयू उम्मीदवार के खिलाफ अपना प्रत्याशी दिया है। मकसद जेडीयू कैंडिडेट को शिकस्त देना है। चिराग पासवान लगातार सीएम नीतीश पर अटैक और पीएम मोदी का गुणगान कर रहे। चिराग कह रहे कि भाजपा से उकी कोई दुश्मनी नहीं है। अगर उनकी सरकार बनती है तो नीतीश कुमार को जेल भेजेंगे।वहीं जीतनराम मांझी ने तो चिराग पारसवान को कोरोना वायरस से भी खतरनाक बनता दिया है।

लोजपा को वोट मतलब जंगलराज लौटाने वालों को वोट...

इधर जेडीयू और बीजेपी लगातार चिराग पासवान को वोटकटवा बताने में जुटी है। सुशील मोदी ने ट्वीट कर कहा, LJP को वोट यानी जंगल राज लौटानेवालों को वोट होगा.LJP समर्थकों से अपील करता हूँ की NDA उम्मीदवारों को जिताएँ और बिहार में भाजपा ज़दयू गठबंधन की सरकार बनायें।PM का भी यही इच्छा है।

चिराग ने आज फिर से सीएम नीतीश पर बोला है हमला...

लोजपा प्रमुख चिराग पासवान ने एक बार फिर से नीतीश कुमार पर बड़ा हमला करते हुए कहा कि मैने तो कभी भी प्रधानमंत्री मोदी का पोस्टर नहीं लगाया, लेकिन बीजेपी ने प्रधानमंत्री के विज्ञापन पोस्टर से नीतीश कुमार को क्यों गायब कर दिया, पहले उसका जवाब दें। चिराग पासवान यहीं नहीं रूके और कहा कि नीतीश कुमार अभी से क्यों डर गए हैं। अभी तो सात निश्चय की जांच भी नहीं हुई है। वैसे सात निश्यच में घोटाला हुआ है या नहीं ये बिहार की एक-एक जनता जानती है। 

चिराग पासवान ने कहा कि मुझे मदारी कहना पीएम मोदी का अपमान है। इसे जनता कभी नहीं बर्दाश्त नहीं करेगी। मैने देखा है लोगों को कुछ भी कह कर अपमान करने का मतलब क्या होता है। मुंबई में जब मैं रहता था, तब बिहारी शब्द का मतलब गाली होता है। बिहारी को गाली होने से बचाने की जिम्मेदारी हम युवाओं पर ही अब है। चिराग पासवान ने पलायन के मुद्दे पर कहा कि अगर बिहार से पलायन नहीं रूका तो धीरे-धीरे पूरा बिहार का युवा बाहर चला जाएगा। पलायन और शराबबंदी की समीक्षा क्यों नहीं होनी चाहिए। हर बिहारी को पता है कि शराब खुलेआम बिक रहा है। शराब तस्कर का पैसा किसके जेब में जा रहा है, क्या नीतीश कुमार को यह नहीं पता। मैं शराबबंदी का समर्थन करता हूं, लेकिन इसके बाद भी शराब का करोबार धड़ल्ले से हो रहा है।

Find Us on Facebook

Trending News