पाई-पाई के लिए मोहताज हो चुके हैं महाभारत के बलशाली भीम, मदद के लिए अभिनेता ने सरकार से लगाई गुहार

पाई-पाई के लिए मोहताज हो चुके हैं महाभारत के बलशाली भीम, मदद के लिए अभिनेता ने सरकार से लगाई गुहार

DESK : टीवी पर महाभारत सीरियल सभी ने देखा होगा। जिसमें पांडवों में बच्चों का सबसे पसंदीदा कलाकार था, वह था गदाधारी भीम। भीम के इस किरदार को अमर बनाने का काम किया था प्रवीण कुमार सोबती ने। जिनके लिए यह किरदार उनके पूरे जीवन की पहचान बन गई। प्रवीण कुमार महाभारत के बाद कई फिल्मों में छोटे-मोटे रोल करते हुए दिखे। लेकिन प्रवीण कुमार को कामयाबी नहीं मिली। अब प्रवीण कुमार एक बार फिर चर्चा में हैं। 

बताया गया कि महाभारत के किरदार निभाने के बाद इसके दूसरे कलाकार अभी भी खुद को फिल्मों में व्यस्त रखने में कामयाब रहे, वहीं प्रवीण कुमार उन कलाकारों में शामिल हैं, जिनके सामने अब खुद का जीवन यापन करने के लिए पैसे नहीं है। हालत यह है कि अभिनेता के पास अपनी बीमारी के लिए पैसे भी पैसे नहीं है। इस बात की जानकारी उन्होंने खुद दी है।

सरकार से पेंशन देने की मांग

76 साल के प्रवीण कुमार ने एक अखबार से बातचीत में बताया कि उनको इस उम्र में सब भूल गए हैं और कोई उनके साथ नहीं है। । काफी समय से घर में ही हूं। तबीयत ठीक नहीं रहती है। खाने में भी कई तरह के परहेज हैं। स्पाइनल प्रॉब्लम है। घर में पत्नी वीना देखभाल करती है। एक बेटी की मुंबई में शादी हो चुकी है। उस दौर में भीम को सब जानते थे, लेकिन अब सब भूल गए हैं।'' प्रवीण कुमार ने सरकार ने सरकार से मांग की है कि उन्हें जीवन यापन के लिए पेंशन की सुविधा उपलब्ध कराई जाए।

अर्जुन अवार्ड से हो चुके हैं सम्मानित

बता दें कि प्रवीण कुमार सोबती को खेलों में भी महारत हासिल थी। प्रवीण दो बार ओलंपिक, फिर एशियन, कॉमनवेल्थ में कई गोल्ड, सिल्वर मेडल हासिल कर चुके हैं। 1967 में उन्हें 'अर्जुन अवॉर्ड' भी दिया गया था। इस सबके बाद भी उन्हें दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। प्रवीण कुमार बीएसएफ में डिप्टी कमांडेंट की नौकरी भी करते थे। उन्हें बीएसएफ से पेंशन मिल रही है लेकिन यह उनके हर दिन के खर्चों के लिए काफी नहीं है


Find Us on Facebook

Trending News