महादलितों और सवर्णों को एकजुट करने की क्षमता सिर्फ जीतनराम मांझी में - धीरेन्द्र कुमार मुन्ना

महादलितों और सवर्णों को एकजुट करने की क्षमता सिर्फ जीतनराम मांझी में - धीरेन्द्र कुमार मुन्ना

PATNA : कोरोना और बाढ़ के कहर के बीच राजनीति रुकने का नाम नहीं ले रहा है. बिहार में बीजेपी, जदयू और वीआईपी पार्टी के बाद अब हम ने वर्चुअल रैली के माध्यम से यह जता दिया है कि हर परिस्थितियों में हम तैयार हैं. हम के राष्ट्रीय प्रवक्ता धीरेन्द्र कुमार मुन्ना कहते हैं कि हम पार्टी गरीबों की आवाज है. हम ही वह पार्टी है जो गरीबों की आवाज़ को परवाज़ दे सकता है. 

पार्टी आर्थिक तौर पर भले ही कमजोर हो, लेकिन मनोबल किसी से कम नहीं. आज बिहार की जनता आशा भरी निगाहों से हम के राष्ट्रीय अध्यक्ष जीतन राम मांझी की ओर देख रही है. मांझी ही एकमात्र नेता हैं जो सवर्णों और महादलितों को एक करने की क्षमता रखते हैं. यह दोनों बड़ा वर्ग मांझी के नेतृत्व में विश्वास करता है. 


इसका अहसास और अनुभव बिहार की जनता पहले भी कर चुकी है. मांझी नई सकारात्मक राजनीति का संदेश देकर अपनी मंशा जता चुके हैं. बिहार की भलाई चाहने वाली पार्टियां सबकुछ भूलकर एकजुट हों और कोरोना के खिलाफ लड़ाई को मजबूत करें.

उन्होंने कहा की आने वाले बिहार विधानसभा चुनाव में हम पार्टी अपने हिसाब से सियासत करेगी. हम के सियासत में समाज के अंतिम पायदान पर खड़े लोगों की समस्याओं का स्थान सर्वोपरि है, जीतनराम मांझी के नेतृत्व में पहले से भी पार्टी बिहार के जमीनी मुद्दों के लिए लड़ाई लड़ती रही है और आनेवाले समय मे भी हमलोग लड़ेंगे. उन्होंने कहा की पार्टी के कार्यकर्ताओं जोश हाई है.

Find Us on Facebook

Trending News