महिला इंस्पेक्टर को DSP ऑफिस में सरेआम बेइज्जत करने वाले दबंग के खिलाफ अब तक नहीं हुई कार्रवाई, SP-SDPO पर उठ रहे सवाल

महिला इंस्पेक्टर को DSP ऑफिस में सरेआम बेइज्जत करने वाले दबंग के खिलाफ अब तक नहीं हुई कार्रवाई, SP-SDPO पर उठ रहे सवाल

PATNA : बिहार में माफियाओं का राज खत्म होने का नाम नहीं ले रहा है. माफिया अब इतने दबंग हो गए हैं कि अब वो कानून को खुली चुनौती दे रहे हैं. एक नया रंगबाज मोतिहारी से उभरा है. रंगबाज को उभारने में स्थानीय पुलिस और प्रशासन का पूरा सपोर्ट है. कहा तो यह भी जाता है कि पैसे के बल पर इस दबंग ने कई IAS और IPS को अपनी मुट्ठी में रखता है. इसका प्रमाण है कि उसे हथियारों के कई लाइसेंस बांट दिए गए हैं. इतने से भी प्रशासन का मन नहीं भरा तो उसे सरकारी बॉडीगार्ड भी दे दिया गया है.हद तो तब हो गई जब वह दबंग वर्दी वाले को उसके दफ्तर में घुसकर न सिर्फ सरेआम बेइज्जत करता है बल्कि जान से मारने की भी धमकी देता है। लेकिन जरा सोचिए, जो डीएसपी आम आदमी की रक्षा के लिए तैनात है,उसके दफ्तर में उसी इलाके की इंस्पेक्टर की सरेआम बेइज्जती होती है फिर भी उन्हें वर्दी की याद नहीं आ रही। तभी तो केस दर्ज होने के एक सप्ताह बीत गये लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हुई। समझा जा सकता है कि पुलिस अधिकारियों की किस कदर से माफियाओं से सांठ-गांठ है।

जिले के एसपी-डीएसपी पर उठ रहे सवाल

अरेराज के डीएसपी के कार्यालय में महिला इंस्पेक्टर की सरेआम बेईज्जती की गई। उसके बाद महिला इंस्पेक्टर ने थाने में केस दर्ज कराई। लेकिन अब तक दबंग आरोपी के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की गई।बताया जाता है कि अभी सिर्फ फाइल दौड़ाया जा रहा है।हालांकि इस मसले में पुलिस के अधिकारी कहते हैं कि आरोपी घर छोड़कर फरार है।

पुलिस और प्रशासन से है पूरी सेटिंग
भला जब किसी माफिया के पास हथियारों का जखीरा और पहुंच -पैरवी हो तो वो कानून को तो हाथ में लेगा ही. आखिर इस दबंग ने भी वही किया जो पहले बिहार के कई बाहुबली कर चुके हैं. लिहाजा कलीम खां ने वही किया. हथियार और पैसे का नशा ऐसा चढ़ा कि उसने डीएसपी दफ्तर के गेट पर उसी इलाके की महिला इंस्पेक्टर को पीट डाला. यही नहीं सरेआम बदसलूकी के बाद जान से मारने की धमकी दी. दबंग कलीम मिया दिन के उजाले में पुलिसकर्मियों के सामने महिला इंस्पेक्टर के साथ गुंडागर्दी कर रहा था वर्दी वाले चुप चाप तमाशा देख रहे थे. वर्दी पहनने के बाद भी मजबूर और पीड़ित अरेराज की महिला इंस्पेक्टर कल्पना कुमारी ने पूर्वी चंपारण के अरेराज थाने में उस दबंग के खिलाफ केस दर्ज करवाई है. अपने ही महकमें में केस दर्ज किए पांच दिन बीत गए लेकिन मजाल है कि उस दबंग कलीम मिया के खिलाफ कोई एक्शन हो पाए.

हथियारों का शौकीन है कलीम खां
जानकारी के अनुसार दबंग कलीम मिया हथियारों का शौकीन है. कलीम की एक तस्वीर वायरल है. जिसमें उसके अगल बगल पांच हथियाबंद लोग उसके पीछे बॉडीगार्ड के तौर पर खड़े हैं. यही नहीं कलीम मिया ने खुद दोनों हाथ में एक एक पिस्टल चमका रहा है. जो यह बताता है कि उसे हथियार से कितना प्रेम है. भला जिसके बाद इतनी की संख्या में हथियार हो वो उसकी गर्मी कैसे बर्दाश्त करे. बताया जाता है कि उसके और उसके परिवार वालों के नाम से प्रशासन ने दर्जनों हथियार के लाइसेंस दिए हैं. उसकी सेटिंग ऐसी है कि उसने इलाके में माहौल टाइट करने के लिए सरकारी बॉडीगार्ड भी ले रखा है. 

जानिए क्या है पूरा मामला
अरेराज सर्किल की पुलिस इंस्पेक्टर है कल्पना कुमारी का आरोप है कि  शुक्रवार को डीएसपी कार्यालय के समक्ष पहाड़पुर थाना क्षेत्र के बरकुरवा गांव के कलीम मिया ने सरकारी बॉडीगार्ड के साथ पहुंचकर अपने एक केस को पक्ष में करने के लिए दबाव बनाया .केस पक्ष में नहीं करने को लेकर महिला पुलिस पदाधिकारी को जान मारने और ट्रांसफर कराने की धमकी दी गई.वही गाली गलौज और धक्का मुक्की भी की गई.इसके साथ ही पांच लाइसेंसी हथियार का भी दबंग कलीम मियां ने भय दिखाया. महिला इंस्पेक्टर ने बकायदा इसको लेकर थाने में मामला दर्ज करवाया. लेकिन पुलिस अबतक इस कलीम खां के खिलाफ एक्शन नहीं ले पाई है. अपने ही महकमे के आला अधिकारियों की चुप्पी से महिला इंस्पेक्टर इस कदर मजबूर हैं कि वो इस्तीफे देने की बात कह रही है. अब देखना है कि पुलिस क्या इस दबंग कलीम खां के खिलाफ कोई एक्शन ले पाती है या फिर मैनेज गेम शुरू होता है.

Find Us on Facebook

Trending News