समस्तीपुर में महिला ने बच्चे के साथ की ख़ुदकुशी, जांच में जुटी पुलिस

समस्तीपुर में महिला ने बच्चे के साथ की ख़ुदकुशी, जांच में जुटी पुलिस

SAMASTPUR : विद्यापति नगर क्षेत्र के साहिट पंचायत के वार्ड नंबर दस में एक सनसनीखेज मामला प्रकाश में आया है. जहां पुत्र के साथ एक मां फांसी के फंदे पर झूल गयी. घटना में दोनों की मौत हो गयी. घटना के बाद इलाके में सनसनी फैल गई है. घटना की सूचना मिलते ही मौके पर पहुंची पुलिस ने मामले की छानबीन शुरू कर दी है. थानाध्यक्ष शिवजी पासवान ने बताया कि पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर उसे अंत्यपरीक्षण हेतु समस्तीपुर भेज दिया है. प्रारंभिक तौर पर मृतक के परिजनों से जो जानकारी मिली है. उसके मुताबिक आर्थिक परेशानी की बात सामने आ रही है. 

जानकारी के अनुसार शनिवार की मध्य रात्रि साहिट पंचायत के वार्ड संख्या दस निवासी नरेश प्रसाद चौरसिया अपनी पत्नी रेणु देवी (40) सहित अपने दोनों पुत्र सत्यम कुमार (12) व मधुर कुमार (10)के साथ सोये हुए थे. अचानक शनिवार की मध्य रात्रि में उनकी पत्नी रेणु देवी उठी और आंगन में लगे आम के पेड़ में साङी के सहारे पहले अपने दोनों पुत्र सत्यम कुमार व मधुर कुमार को फंदे पर लटकाया. इसके बाद खुद भी उसी आम के पेड़ में साङी के फांसी के फंदे पर लटक गयी. संयोगवश बङे पुत्र सत्यम कुमार के पैर के नीचे रखी कुर्सी नहीं हट सकी. जिससे उसकी जान बच गयी. वहीं रेणु देवी व उनके पुत्र मधुर कुमार की मौत घटनास्थल पर ही हो गयी. 

घटना के बाद आत्महत्या में असफल पुत्र सत्यम कुमार के चिल्लाने की आवाज पर दौङे पिता नरेश प्रसाद चौरसिया व पड़ोसियों की मदद से उसकी जान बच सकी. आसपास के ग्रामीणों की माने तो साहिट पंचायत वार्ड 10 में नरेश प्रसाद चौरसिया अपनी पत्नी रेणु देवी व दो बच्चों मधुर कुमार (10) और सत्यम कुमार (12) के साथ रहते थे. मृतक महिला रेणु देवी के पति नरेश प्रसाद चौरसिया की मानसिक स्थिति ठीक नहीं हैं. वह काफी दिनों से विक्षिप्त जैसी हरकत करता रहता है. जिससे परिवार में  आर्थिक तंगी के कारण उसकी पत्नी तनाव में रहने लगी थी. 

शनिवार की देर रात उसने घर के आंगन में आम के पेड़ में पहले 10 साल के मासूम बच्चे को फांसी लगाया. फिर खुद भी फांसी के फंदे पर झूल आत्महत्या कर ली. थानाध्यक्ष शिवजी पासवान ने बताया कि मृतका घर की आर्थिक हालत काफी कमजोर होने के चलते दुखी थी. इसी के चलते उसने आत्महत्या की है. इधर घटना को लेकर पूरे इलाके में मातम का माहौल कायम है. सूचना मिलते ही पहुंचे थानाध्यक्ष शिवजी पासवान,प्रशिक्षु एसआई राजन कुमार,अनिल कुमार रजक, एएसआई सुनील कुमार राय ने मामले की छानबीन शुरू कर दी है. पुलिस को कोई सुसाइड नोट नहीं मिला है. 

समस्तीपुर से संजीव तरुण की रिपोर्ट 

Find Us on Facebook

Trending News